योगीजी! सीनियर सिटीजन को भी करें अनुग्रहित

    51
    0

    गाजीपुर। रिटायर राज्य कर्मियों, शिक्षकों की भी योगी सरकार से अपेक्षाएं हैं। वह चाहते हैं कि जनवरी 2020 से स्थगित मंहगाई भत्ता फिर से बहाल हो। कैशलेश चिकित्सा व्यवस्था प्रभावी ढंग से लागू की जाए। इस सिलसिले में उनका संगठन सेवा निवृत्त कर्मचारी एवं पेंशनर ऐशोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल 15 जून की शाम तीन बजे डीएम से मिलेगा और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपेगा।

    संगठन की जिला इकाई का अधिवेशन शुक्रवार को सदर ब्लॉक मुख्यालय के सभागार में हुआ। इस मौके पर नई कार्यकारिणी गठित हुई। इसके लिए सर्वसम्मति से मुक्तेश्वर श्रीवास्तव अध्यक्ष, आरएस वर्मा वरिष्ठ उपाध्यक्ष, जनार्दन सिंह मंत्री तथा अशोक कुमार संप्रेक्षक चुने गए। नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के जिलाध्यक्ष अंबिका दूबे ने पद की शपथ दिलाई।

    नवनिर्वाचित अध्यक्ष मुक्तेश्वर श्रीवास्तव ने कहा कि रिटायर राज्यकर्मी और अन्य पेंशनर्स भी अपने जीवन का कीमती वक्त सरकार की सेवा में खपा दिए। ऐसे में सरकार का भी दायित्व बनता है कि इन्हें सीनियर सिटीजन मानकर इनका  मान-सम्मान के साथ ही जरूरतों की पूर्ति सुनिश्चित करे। बताए कि मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन में बीते पंचायत चुनाव की ड्यूटी में मृत कर्मचारियों, शिक्षक के आश्रितों को असाधरण पेंशन सहित समुचित राहत राशि प्रदान करने की मांग भी प्रमुख रहेगी। उन्होंने उम्मीद जताई कि मुख्यमंत्री रिटायर राज्य कर्मियों, शिक्षकों की भावनाओं को समझेंगे और इन्हें अवश्य अनुग्रहित करेंगे।

    अधिवेशन में रामाधार राय, सत्य नारायण पांडेय, डीएन राय, चंद्रिका राम, बिरेंद्र सिंह, विभूति राय, गोपाल जी तिवारी, उग्रसेन सिंह, महेंद्र सिंह, अशोक लाल आदि थे। अध्यक्षता परिषद के पूर्व अध्यक्ष बरमेश्वर उपाध्याय ने की।

    यह भी पढ़ें–जिला पंचायतः चुनाव याचिका पर 21 को अगली सुनवाई

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

     

    Previous articleफर्जीवाड़े में वांटेड परिषदीय शिक्षक गिरफ्तार
    Next articleपूर्वांचल एक्सप्रेस वेः जुलाई के मध्य तक हो जाएगा चालू-सतीश महाना