दबोचा गया दिवंगत पत्रकार के भाई को धमकी देने वाला बदमाश

    42
    0

    गाजीपुर। करंडा पुलिस ब्राह्मणपुरा चट्टी से मंगलवार को युवक बिट्टू यादव को धर दबोची। मौके पर तलाशी में उसके कब्जे से लोडेड नाइन एमएम तथा देशी पिस्तौल बरामद हुई। वह उसी क्षेत्र के मानिकपुर कोटे का रहने वाला है। उसने ब्राह्मणपुरा के ही रहने वाले दिवंगत पत्रकार राजेश मिश्र के भाई अमितेष मिश्र को जान से मारने की धमकी दी थी।

    बिट्टू यादव अपराधी प्रवृत्ति का है। हालांकि लाइम लाइट में नहीं आया था लेकिन ग्रामीणों के अनुसार इधर वह गैंग बनाकर आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त रहा है। दिखावे के लिए ब्राह्मणपुरा चट्टी पर मोबाइल फोन रिपेयरिंग की दुकान भी खोला है। चश्मदीदों के मुताबिक गिरफ्तारी के वक्त मौके पर मौजूद शिकायतकर्ता अमितेष मिश्र को पुलिस के सामने ही चिल्ला-चिल्ला कर समझ लेने की धमकी दे रहा था।

    मालूम हो कि 22 अक्टूबर 2017 की सुबह पत्रकार राजेश मिश्र की ब्राह्मणपुरा चट्टी पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मौके पर मौजूद रहे अमितेष मिश्र को भी बदमाशों ने गोली मारी थी लेकिन सौभाग्य रहा कि लंबे इलाज के बाद वह बच गए। राजेश मिश्र आरएसएस के स्वंयसेवक भी थे। लिहाजा उनकी हत्या को लेकर सत्ताधारी पार्टी भाजपा के बड़े नेताओं से लगायत छोटे कार्यकर्ताओं में तीखी प्रतिक्रिया हुई थी। उस हत्याकांड में मूलतः ब्राह्णपुरा के ही रहने वाले कुख्यात बदमाश राजेश दूबे तथा उसके साथी लोनेपुर के राजू यादव का नाम आया था। बाद में राजेश दूबे पुलिस मुठभेड़ में ढेर भी हो गया था। राजेश मिश्र की हत्या के मुकदमे में अमितेष मिश्र चश्मदीद गवाह हैं।

    हालांकि एसओ करंडा अजय कुमार पांडेय ने बदमाश बिट्टू यादव का अमितेष मिश्र को जान से मारने की धमकी देने के मामले को पत्रकार राजेश मिश्र हत्याकांड से जोड़ने की बात से साफ इन्कार किया। बताए कि बिट्टू की गिरफ्तारी के वक्त उसके कब्जे से स्कार्पियो भी बरामद हुई।

    यह भी पढ़ें–अंसारी बंधु ‘फील्ड’ से गायब !

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

    Previous articleकासिमाबादः ब्लॉक प्रमुख चुनाव में संगठन बेमतलब!
    Next articleअंजना सिंह की चुनाव याचिका पर आरओ सहित अन्य उम्मीदवारों को नोटिस, 21 को अगली सुनवाई