भाजपा विधायक अलका राय की ननिहाल करीमुद्दीनपुर में अंसारी बंधुओं का जलवा कायम

    40
    0

    बाराचवर/गाजीपुर (यशवंत सिंह)। अंसारी बंधुओं का भाजपा विधायक अलका राय की ननिहाल करीमुद्दीनपुर में जलवा कायम है। वहां क्षेत्र पंचायत की रिक्त सीट (76) के लिए रविवार को हुए नामांकन में इकलौता नामांकन प्रेमा राय पत्नी अशोक राय का हुआ। इस दशा में उनका निर्विरोध चुना जाना तय हो गया है।

    मालूम हो कि बीते 29 मई को हुए चुनाव में उस सीट से प्रेमा देवी की देवरानी मीरा राय पत्नी अनिल राय ने शानदार जीत दर्ज कराई थी लेकिन परिणाम की घोषणा से पहले ही वह कोरोना में चल बसी थीं। प्रेमा राय के परिवार का सियासी ताल्लुकात अंसारी बंधुओं से है। वैसे करीमुद्दीनपुर ग्राम पंचायत की सियासत में अंसारी बंधुओं का ही दबदबा है। इस बार प्रधान का पद पिछड़ी महिला के लिए आरक्षित रहा। अंसारी बंधु के खेमे की फरीदा पत्नी अलिम निर्वाचित हुई हैं।

    भाजपा विधायक अलका राय की ननिहाल मूलतः अमांव (बलिया) में है लेकिन ननिहाल परिवार को नेवरसा करीमुद्दीनपुर में मिला है। लिहाजा करीमुद्दीनपुर में ही अलका राय की स्कूली पढ़ाई-लिखाई भी हुई है। बावजूद करीमुद्दीनपुर ग्राम पंचायत की सियासत में अंसारी बंधुओं का जलवा है।

    इधर बाराचवर ब्लॉक में रिक्त ग्राम पंचायत सदस्यों के लिए भी नामांकन हुआ। विभिन्न ग्राम पंचायतों के कुल रिक्त 411 ग्राम पंचायत सदस्यों में मात्र करीब 350 के लिए नामांकन हुए। इनमें करीब 300 पद पर इकलौते नामांकन के कारण वहां निर्विरोध चुनाव की गुंजाइश बन गई। नामांकन के दौरान बाराचवर ब्लॉक मुख्यालय पर पूरे दिन काफी गहमा-गहमी रही। राज्य निर्वाचन आयोग के कार्यक्रम के मुताबिक रिक्त पदों के लिए नामांकन के बाद सात जून को नाम वापसी तथा चुनाव चिह्नों का आवंटन और 12 जून को मतदान होगा जबकि 14 जून को मतगणना होगी।

    यह भी पढ़ें—कुछ इस अंदाज में मना विश्व पर्यावरण दिवस

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

    Previous articleविश्व पर्यावरण दिवसः कहीं रुद्राक्ष तो कहीं रोपे गए पाकड़ के पौधे
    Next articleशादी के बाद बीच राह दुल्हन को छोड़ भागा दहेज लोभी दूल्हा