श्मशान घाट पर खुफिया कैमरे की जद में शव यात्री

    33
    0

    गाजीपुर। गंगा में उधर मानव शवों के अंबार से प्रदेश सरकार की हुई किरकिरी को लेकर अब प्रशासन अपनी ओर से कोई चूक नहीं चाहता। जहां तटीय इलाकों में पुलिस तथा राजस्व कर्मियों की पेट्रोलिंग हो रही है। वहीं स्थानीय निकायों को भी अलर्ट मोड में रखा गया है। तटीय गांवों में शवों के निस्तारण पर नजर रखने की जिम्मेदारी नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों और ग्राम पंचायत स्तरीय कर्मचारियों को सौंपी गई है। इधर नगर निकाय भी हरकत में हैं।

    इसी क्रम में गाजीपुर नगर पालिका चेयरमैन प्रतिनिधि विनोद अग्रवाल ने बताया कि गाजीपुर श्मशान घाट पर शव यात्रियों की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है। साथ ही कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। हेल्प डेस्क भी लगा है। जहां शवों की अंत्येष्टि के लिए जरूरतमंदों की पूरी मदद दी जा रही है।

    इसी तरह गांवों, नगरीय इलाकों में कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए सेनेटाइजेशन, सफाई अभियान भी जारी है। नगर पालिका चेयरमैन प्रतिनिधि विनोद अग्रवाल के अनुसार गाजीपुर नगर में इस अभियान के चल रहे पांचवें चरण में शनिवार को चौथे दिन ऑबेडकर नगर, वीर अब्दुल हमीद नगर, अब्दुल कलाम नगर एवं स्वामी विवेकानंद वार्ड को क्षेत्रीय सभासदगण तथा उनके प्रतिनिधि क्रमशः परवेज अहमद, नेहाल अहमद, नन्हें भाई व रूपक तिवारी की देखरेख में सेनेटाइज किया गया।

    श्री अग्रवाल ने दावा किया कि नगर पालिका परिषद बिना किसी भेदभाव के साथ इस अभियान में जुटी है। नगर के मुख्य मार्गों को भी दो स्पे्रयुक्त टैंकरों से सैनिटाइज किया जा रहा है। श्मशान घाट (बैकुंठ धाम) को भी बार-बार सैनिटाइज किया जा रहा है।

    चेयरमैन प्रतिनिधि ने नगरवासियों से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने व सफाई, सैनिटाइजेशन के कार्य में लगे पालिका कर्मचारियों का सहयोग करने की अपील करते हुए कहा कि सफाई, दवाई और कड़ाई से ही हम कोरोना से लड़ाई जीतने में कामयाब होंगे। कोरोना से हमें डरना नहीं, बल्कि लड़ना है। उन्होंने कोरोना पाजिटिव केसों की कमी पर संतोष व्यक्त करते हुए लोगों से सावधान व सजग रहने पर भी जोर दिया।

    …और छह सफाई कर्मी निलंबित

    गाजीपुर। प्रशासन की लाख सख्ती के बावजूद गांवों में तैनात सफाई कर्मी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। सदर ब्लाक के फतेहपुर अटवा, जमानियां के बहादुरपुर और देवकली में सफाईकर्मी कई दिनों से नदारद हैं। नतीजा वहां सेनेटाइजेशन का काम शुरू नहीं हुआ है। जगह-जगह गंदगी के ढेर लगे हैं। यह शिकायत मिलने पर डीपीआरओ रमेशचंद्र उपाध्याय शुक्रवार को इन गांवों में पहुंचे। शिकायत की पुष्टि के बाद उन्होंने फतेहपुर अटवा में तैनात सफाईकर्मी इशरत जहां, माधुरी, इंदा देवी, देवकली की गिरजा देवी और जमानियां के बहादुरपुर में तैनात सनेही राम को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।

    यह भी पढ़ें–सांसद का अब ‘ऑक्सीजन लंगर’

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

     

    Previous articleपूरे जिले में निषेधाज्ञा और दो माह के लिए बढ़ी
    Next articleडेरे पर सोए वृद्ध किसान की हत्या