अब हर गांव के हर घर तक पहुंचेगी ‘अतुल एंबुलेंस’

    36
    0

    गाजीपुर। न सांसद निधि। न सरकारी विधि और न कोई एक परिधि। अपना खुद का धन। अपना खुद का प्लान और लक्ष्य पूरे जन। महामारी के इस संकट काल में घोसी सांसद अतुल राय की टीम इसी अंदाज में घोसी संसदीय क्षेत्र के लोगों की सेवा में जुटी है।

    सांसद अतुल राय ने अब अपने संसदीय क्षेत्र के सभी पांच विधानसभा क्षेत्र के लिए एंबुलेंस सेवा शुरू कराई है। सोमवार को जिला मुख्यालय मऊ में एक संक्षिप्त कार्यक्रम में नगर पालिका मऊ के चेयरमैन तैयब पालकी तथा समाजसेवी देव प्रकाश राय ने हरी झंडी दिखा कर उन एंबुलेंसों को रवाना किया।

    इस मौके पर सांसद प्रतिनिधि गोपाल राय ने बताया कि प्रतिदिन सुबह आठ से रात आठ बजे तक यह एंबुलेंस सेवा उपलब्ध रहेगी। एंबुलेंस ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और पैरामेडिकल स्टाफ़ के साथ हर गांव के हर घर तक पहुंचेगी और कोविड लक्षण से प्रभावित व्यक्ति की मौक़े पर ऑक्सीजन पल्स मीटर और इंफ़्रा रेड थर्मा मीटर से जांच कर अपने टेली मेडिसीन पैनल में मौजूद डॉक्टर की परामर्श से उसे निःशुल्क दवा उपलब्ध कराया जाएगा। ज़रूरस्त पड़ी तो एंबुलेंस में उपलब्ध ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर से उस पीड़ित की ऑक्सीजन की फौरी जरूरत की पूर्ति करने के साथ ही उसे निकटवर्ती सरकारी कोविड सेंटर तक पहुंचाया जाएगा।

    सांसद प्रतिनिधि ने कहा कि यह बेहद मुश्किल वक्त है। यह वक्त सरकारी संसाधनों के जरिये सिर्फ सियासी वाहवाही बटोरने का नहीं है। सरकार तो अपना काम खुद कर ही रही है लेकिन यह वक्त हर किसी को अपनी नैतिक जिम्मेदारी के बोध का भी है। यह सबको पता है कि इन दिनों संसदीय निधि निलंबित है। तब इस निधि से जनसेवा, जनसुविधा की बात सिवाय जुबानी जमा-खर्च के कुछ नहीं है जबकि यह वक्त धरातल पर चिकित्सकीय सुविधा, चिकित्सकीय सेवा की पूर्ति का है। यही वजह है कि अतुल राय अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों के लिए मय दवा टेलीमेडिसीन सेवा के साथ ही मऊ जिला अस्पताल में ऑक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध कराए और अब यह एंबुलेंस सेवा की शुरुआत कराई है जबकि वह भी चाहते तो अन्य जनप्रतिनिधियों की तरह अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों को उनके हाल पर छोड़ सकते थे। संयोग से वह इन दिनों एक कथित यौन शोषण के मामले में नैनी जेल में निरुद्ध भी हैं। दरअसल अपनी नैतिक जिम्मेदारी का एहसास सांसद अतुल राय को है। वह जेल में रहकर भी अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों की सेहत, महफूज जिंदगी को लेकर फिक्रमंद हैं। इसके लिए वह पीड़ितों की जरूरत की पूर्ति के लिए योजनाएं बनाते हैं और उनकी टीम उन योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने में जुट जाती है। इस मौके पर गोपालजी, राजविजय, राजीव सैनी आदि प्रमुख लोग भी मौके पर मौजूद थे।

    यह भी पढ़ें–पूर्व केंद्रीय मंत्री के भांजे को भी कोरोना…

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

    Previous articleडब्ल्यूएचओ के हेड का तबादला, मामला दफ्तर में दारू-मुर्गा पार्टी का
    Next articleवरिष्ठ कांग्रेसी नेता दिनानाथ शास्त्री नहीं रहे