यूपीडा की साइट से लूटा गया डंपर बरामद

    35
    0

    गाजीपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की साइट से लूटा गया डंपर बरामद हो गया है। यह कामयाबी कासिमाबाद पुलिस और स्वाट टीम की संयुक्त कार्रवाई में शनिवार की रात करीब डेढ़ बजे उसी क्षेत्र के सिधागर घाट के पास मिली। मौके पर लूट को अंजाम देनेवाले गैंग का सरगना शिवांशु शर्मा उर्फ बबल को गिरफ्तार किया गया। उसके अन्य तीन साथी मौके से भाग निकले। बबल सहमन थाना मेजा जनपद प्रयागराज का रहने वाला है। पुलिस कप्तान डॉ. ओमप्रकाश सिंह ने इसे बड़ी उपलब्धि बताते हुए पुलिस टीम को अपनी ओर से दस हजार रुपये नकद इनाम देने की घोषणा की है। टीम की अगुवाई एसएचओ कासिमाबाद श्यामजी यादव तथा स्वाट टीम इंचार्ज इंस्पेक्टर विनीत राय कर रहे थे।

    लूट की वारदात बीते 12 अप्रैल की रात हुई थी। डंपर चालक संजय चौहान मिट्टी ढुलाई के लिए जा रहा था। उसी बीच एक्सप्रेस-वे के निर्माण में लगी कंपनी ओरिएंटर स्ट्रक्चरल इंजीनियर्स प्राइवेट लिमिटेड के कैंप ऑफिस बूढ़नपुर से करीब आधा किलोमीटर आगे चावनपुर गनी गांव के पास कार सवार बदमाशों ने उसे रोका था और असलहे के बल पर उसको अपनी कार में बैठा लिया था। एक बदमाश डंपर लेकर निकल गया था जबकि अन्य बदमाश चालक संजय चौहान को अपहृत कर औड़िहार ले गए थे। वहां उसे छोड़ कर वह भी लापता हो गए थे।

    जाहिर है कि मुख्यमंत्री के इस ड्रीम प्रोजेक्ट की साइट पर हुई यह लूट की घटना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती थी। पुलिस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर आखिर लुटेरों तक पहुंच गई।

    गिरफ्तारी के वक्त फरार गैंग के अन्य बदमाशों की भी पहचान हो गई है। यह भी जनपद प्रयागराज के ही रहने वाले हैं। इनमें रोहित पांडेय पनासा थाना करछना, कल्लू पांडेय वीरपुर थाना करछना तथा गोलू मिश्र इमिलिया समहन थाना मेजा का है। पुलिस कप्तान ने बताया कि गैंग के सरगना की निशानदेही पर लूट का एक ट्रैक्टर और घटना में इस्तेमाल कार भी बरामद हुई है। उसके कबजे से मय कारतूस तमंचा भी मिला है।

     

    यह भी पढ़ें—पुलिस का हेड कांस्टेबल, कृत्य खौफनाक

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

     

    Previous articleजरूरतमंद परिवार के कोविड संक्रमित शवों की अंत्येष्टि का खर्च उठाएगी नगर पालिका
    Next articleपूर्व केंद्रीय मंत्री कल्पनाथ राय के भांजा भी कोरोना में मारे गए