मलसा में फूड पॉइजनिंग से 217 भेड़ों की मौत

    41
    0

    गाजीपुर। गंगा पार जमानियां ब्लॉक के मलसा गांव के एक बाड़े में रखी गईं 217 भेड़ें शुक्रवार की सुबह मृत मिलीं। इनकी मौत का कारण फूड पॉइजनिंग बताया गया है। यह सारी भेड़ गांव के राघव शरण पाल की थीं।

    राघव शरण पाल ने बताया कि रोज की तरह सभी 219 भेड़ों को चराकर वह गुरुवार की शाम घर लाए। और घर के पास बाड़े में उन्हें बंद कर दिए थे। उनमें मात्र दो बची हैं।

    कोरोना के इस संकट काल में एक ही बाड़े में रात भर में सैकड़ों भेड़ों की मौत ने गांव के लोगों को डरा दिया। पशु चिकित्सा विभाग को इसकी जानकारी दी गई। मौके पर जमानियां तहसील मुख्यालय स्थित राजकीय पशु अस्पताल की टीम पहुंची। पोस्टमार्टम के बाद भेड़ों को ट्रैक्टर से गंगा किनारे ले जाकर अलग-अलग चार गड्ढे खोदकर उनमें दफन कर दिया गया।

    इधर मुख्य पशु चिकित्साधिकारी राघवेंद्र प्रसाद ने बताया कि मौके पर हुए पोस्टमार्टम में भेड़ों की मौत का कारण फूड प्वाइजनिंग सामने आया। पालक का करीब साढ़े छह लाख रुपये का नुकसान हुआ है।

    यह भी पढ़ें–खबरदार ! बख्शेंगे नहीं डीएम

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

    Previous articleपियक्कड़ई में यार को ही मार दी गोली, जख्मी युवक बीएचयू रेफर
    Next articleमेराज की मौत मुन्ना बजरंगी के कत्ल का बदला!