सपा प्रत्याशी के पति ने ही डुबा दी लुटिया और जीत में पलट गई भाजपा की हारी बाजी

    58
    0

    बाराचवर/गाजीपुर (यशवंत सिंह)। कहते हैं कि किसी काम के लिए जरूरत से ज्यादा दिमाग लगा दिया जाए तो वह काम बिगड़ भी जाता है। जिला पंचायत की बाराचवर चतुर्थ सीट पर सपा उम्मीदवार सीता यादव के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। वह जीत के बिल्कुल करीब पहुंच कर भी पिछड़ गईं और हार के बिल्कुल मुहाने पर खड़ी भाजपा की आखिर में बात बन गई।

    इस सीट पर भाजपा के राजकुमार सिंह झाबर सपा की सीता यादव से मात्र 82 वोट की बढ़त लेकर जीत का सेहरा अपने माथे बांध लिए। झाबर को कुल 6,211 वोट मिले जबकि सीता यादव 6,129 वोट पर ही अटक गईं।

    एक लिहाज से देखा जाए तो झाबर सिंह की किस्मत ही चांड़ थी। बसपा उम्मीदवार अभय नारायण चौबे मुकाबले को तिकोना कर अपनी जीत को लेकर आश्वस्त थे। इसके पीछे अगड़ों खासकर हम बिरादरी के अलावा पार्टी का वोट बैंक था लेकिन पार्टी की बागावत उन्हें सीधे तीसरे स्थान पर पहुंचा दी। उनको कुल 5,417 वोट पर ही संतोष करना पड़ा जबकि पार्टी के बागी रामकरन शास्त्री कॉडर के 2,300 वोट हथिया लिए।

    ऐसा नहीं कि भाजपा बगावत से अछूती थी। बल्कि पार्टी की बागी अंजू सिंह पत्नी अजय सिंह कुल्हाड़ी (चुनाव निशान) लेकर पार्टी के आधार ही काटने पर आमादा थीं और वह 2,339 वोट अपनी झोली में बटोर भी लीं। इसका लाभ सपा की सीता यादव को मिल रहा था लेकिन किस्मत तो झाबर की जगनी थी और उनकी जीत की रही सही कसर सपा की सीता यादव के पति रवींद्र यादव ने पूरी कर दी। दरअसल रवींद्र यादव दिमाग लगाए। अपनी पत्नी की मदद खातिर खुद उनके डमी उम्मीदवार बन गए। संभवतः यह ख्याल कर कि उनका खाता शून्य न रह जाए। इस लिहाज से करीबियों ने उनके खाते में भी 267 वोट डाल दिए। इसके साथ ही झाबर सिंह की जीत एकदम पक्की हो गई और इस तरह बाराचवर की कुल चार में अकेले यह सीट भाजपा के नाम दर्ज हो गई। उधर सुभासपा के राजेश सिंह 3,247 वोट लेकर चौथे स्थान पर चले गए।

    सपा की सीता यादव की यह भी बदकिस्मती ही रही कि कुल अवैध 1470 वोट में ज्यादातर इन्हीं के रहे। इनकी हार के सदमे से अभी इलाकाई सपाई उबर नहीं पाए हैं। दरअसल सीता यादव चेयरमैन पद की दावेदार मानी जा रही थीं। उनके ठेकेदार पति रवींद्र यादव पार्टी विधायक डॉ.बीरेंद्र यादव के बेहद करीब जो माने जाते हैं। इधर भाजपा के इलाकाई दिग्गजों का कॉलर टाइट हो गया है। इस सीट पर कुल 40 हजार 543 वोटर थे। इनमें 71.14 फीसद ने वोट किए।

    यह भी पढ़ें–आशा की आस शैलेंद्र ने तोड़ी

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

    Previous articleमनिहारी पंचम: डॉ. विजय की रणनीति काम आई, पत्नी वंदना ने जीत दर्ज कराई
    Next articleअवधेश राय की दावेदारी पर सपा के मुहम्मदाबाद इकाई अध्यक्ष को आपत्ति