जिला पंचायत की निवर्तमान चेयरमैन आशा यादव की भी नहीं बची जमानत

    34
    0

    बाराचवर/गाजीपुर (यशवंत सिंह)बेशक! इस बार के पंचायत चुनाव में वोटरों का मिजाज बदलाव का था। नए चेहरों ने उन्हें आकर्षित किया। वोटरों के इस मिजाज से जिला पंचायत की निवर्तमान चेयरमैन आशा यादव भी बच नहीं पाईं। यहां तक कि उनको जिला पंचायत की षष्टम सीट पर अपनी जमानत राशि से भी हाथ धो देना पड़ा।

    हालांकि पिछले चुनाव में वह मरदह प्रथम सीट से जिला पंचायत में पहुंची थीं लेकिन इस बार वह उसे छोड़ कर कासिमाबाद षष्टम सीट पर अपनी किस्मत आजमाने चली गईं। सपा के राष्ट्रीय नेतृत्व के हस्तक्षेप के बाद उन्हें पार्टी का टिकट भी मिला लेकिन निर्दल शैलेंद्र सिंह के हाथों उन्हें हार जाना पड़ा। शैलेंद्र सिंह के खाते में आठ हजार 80 वोट दर्ज हुए जबकि उनकी निकटतम प्रतिद्वंद्वी आशा यादव चार हजार 962 वोट बटोर पाईं। तीसरे स्थान पर रहे बसपा के आलोक सागर चार हजार 905 वोट पाए। भाजपा के वीरबहादुर चौहान चार हजार 164 वोट हासिल किए।

    अन्य उम्मीदवारों में पिंकी एक हजार 224, धिरेंद्र एक हजार 96, मनोज 648, अनिता 266, मुन्ना 195, सीमा 178, रेनू 142 और राजकुमार के खाते में 110 वोट गिने गए।

    यह सीट अनारक्षित थी। कुल 37 हजार 399 वोटर थे। इनमें 72.21 फीसद वोट पड़े। एक हजार 36 वोट अवैध हो गए। निर्वाचित शैलेंद्र सिंह को छोड़ कर अन्य सभी उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई।

    यह भी पढ़ें—भाजपा दिग्गज की पत्नी गवां बैठीं जमानत

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

     

    Previous articleभाजपा दिग्गज रामतेज पांडेय की पत्नी गिरजा देवी अपनी जमानत तक गवां बैठी
    Next articleजमानियां प्रथम: रोमांचक मुकाबले में कुसुमलता ने मारी बाजी