जमानियां प्रथम: रोमांचक मुकाबले में कुसुमलता ने मारी बाजी

    72
    0

    गाजीपुर। जिला पंचायत की जमानियां प्रथम सीट का मुकाबला भी कम रोचक नहीं रहा। निर्वाचित कुसुमलता पत्नी मुकेश यादव और मीना पत्नी धर्मेंद्र यादव के बीच कड़ी टक्कर हुई। मतगणना के दौरान दोनों आगे पीछे होती रहीं लेकिन आखिर में किस्मत कुसुमलता का साथ दी।

    कुसुमलता जहां कुल चार हजार 479 वोट पाईं। वहीं मीना की झोली में कुल चार हजार 378 वोट गिरे। कुसुमलता के पति मुकेश यादव उस इलाके के सब्बलपुर गांव के रहने वाले हैं और उज्जैन (मध्य प्रदेश) में बड़े कांट्रेक्टर के रूप में उनकी पहचान है जबकि कुसुमलता की निकटतम प्रतिद्वंद्वी मीना के पति धर्मेंद्र यादव गुड्डू पिछले चुनाव में ढढ़नी के प्रधान चुने गए थे। इलाके में वह सपा के ‘हार्डकोर’ कार्यकर्ता माने जाते हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान तब वह सुर्खियों में आए थे जब अपने संग तत्कालीन सीओ जमानियां की भाजपा के पक्ष में फोन पर हुई तल्ख बतकही का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल किए थे।

    सपा जिला पंचायत की पिछड़ा वर्ग की महिला के लिए आरक्षित इस सीट को अपनों में फ्री फाइट के लिए छोड़ दी थी। चुनाव अभियान में धर्मेंद्र यादव गुड्डू के साथ खाटी सपाई लगे थे जबकि मुकेश यादव के पीछे लगे चेहरों में भाजपा के भी इलाकाई लड़वइयों का नाम लिया जा रहा था।

    अलबत्ता भाजपा और बसपा  अपना उम्मीदवार उतारी थीं। भाजपा की वृंदा देवी पत्नी रामनारायण तीन हजार 661 वोट लेकर चौथे स्थान पर खिसक गईं जबकि बसपा की धनेश्वरी पत्नी नरेश बिंद मात्र 710 वोट हासिल कर आठवें स्थान पर रहीं।

    इस सीट पर कुल 15 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमाईं। शेष 11 उम्मीदवारों में आशा चार हजार 61, रेवाती दो हजार 431, रितु एक हजार 913, निधि एक हजार 214, रजमतिया 440, इंदा देवी 296, पुष्पा 187, मनिका 132, राजेश्वरी 121, रमरजिया देवी 111 और सितारा 79 वोट प्राप्त कर पाईं।

    इस सीट पर कुल वोटर 44 हजार 872 थे। इनमें 24 हजार 213 वोट पड़े। अवैध वोटों की संख्या 814 रही।

    यह भी पढ़ें—आशा की आस शैलेंद्र ने तोड़ी

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

    Previous articleजिला पंचायत की निवर्तमान चेयरमैन आशा यादव की भी नहीं बची जमानत
    Next articleसैदपुर प्रथमः पूर्व सांसद के बेटे ने की रिकाउंटिंग की मांग, आरओ को दिया ज्ञापन