निजी खर्च पर ऑक्सीजन प्लांट लगवाने की सांसद अतुल राय की पेशकश, डीएम मऊ को भेजी चिट्ठी

    50
    0

    गाजीपुर। कोरोना के इस विपत्ति काल में जहां ज्यादतर जनप्रतिनिधि अपने निर्वाचन क्षेत्र की जनता को उनके हाल पर छोड़ दिए हैं। वहीं पड़ोस के घोसी सांसद अतुल राय इस दिशा में और एक कदम आगे बढ़े हैं। अब उन्होंने निजी खर्चे पर ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की पेशकश की है। नैनी जेल अधीक्षक के जरिये उन्होंने डीएम मऊ को इस आशय की चिट्ठी भेजी है।

    यौन शोषण के एक कथित मामले में नैनी जेल में निरुद्ध सांसद अतुल राय की ओर से बीते शुक्रवार को लिखी गई उस चिट्ठी में डीएम से ऑक्सीजन प्लांट के लिए भूखंड मुहैया कराने का आग्रह किया गया है। लिखा है कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के दूसरे म्यूटेंट के कहर से प्रतिदिन हजारों मौत हो रही है। सरकार का लगातार प्रयास है कि लोगों को उचित उपचार की सुविधा जल्द उपलब्ध कराई जाए लेकिन उनके संसदीय क्षेत्र घोसी (मऊ) में ऑक्सीजन की कमी बनी हुई है। लिहाजा उनका अनुरोध है कि शासन की मंशा अनुरूप मऊ जिले में उन्हें भूखंड मुहैया कराया जाए। जहां वह अपने निजी खर्च से  ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण करा सकें। ताकि मऊ के साथ ही अगल-बगल के जिलों को भी निःशुल्क ऑक्सीजन की निर्बाध सप्लाई हो सके। भविष्य में भी अगर कोई ऐसी राष्ट्रीय त्रासदी आती है तो उस ऑक्सीजन प्लांट से निःशुल्क सप्लाई दी जाएगी। सांसद घोसी ने चिट्ठी के अंत में डीएम मऊ से आग्रह किया है कि वह इनके इस प्रस्ताव पर अतिशीघ्र निर्णय लेकर कृत कार्यवाही से उन्हें भी अवगत कराएं। चिट्ठी की एक प्रति सीएमओ मऊ को भी भेजी है।

    मालूम हो कि सांसद अतुल राय ने अपने संसदीय क्षेत्र घोसी के लोगों को अपने खर्चे से टेली मेडिसीन की मुफ्त सुविधा के लिए कोविड हेल्प डेस्क स्थापित कराया है। जहां देश के जाने माने चिकित्सा विज्ञान संस्थानों के कुल दस विशेषज्ञ चिकित्सकों का पैनल कोविड संक्रमितों की ऑनलाइन जांच कर जरूरी दवा का परामर्श दे रहा है। सांसद प्रतिनिधि गोपाल राय बताते हैं कि कोविड हेल्प डेस्क की शुरुआत 28 अप्रैल से हुई है और लाभार्थियों की संख्या बढ़ कर हर रोज का औसत 50 पर पहुंच गई है। यह हेल्प डेस्क प्रतिदिन सुबह आठ से रात्रि आठ बजे तक सेवारत रहता है। खासियत यह कि डॉक्टर के परामर्श के बाद उनके सुझाई गई दवा गरीब, निराश्रित पीड़ित को उनके घर जाकर पैरामेडिकल वॉलिंटियर्स निःशुल्क उपलब्ध कराते हैं। साथ ही ऑक्सीजन पल्स मीटर से उनका ऑक्सिजन लेवल और इंफ़्रा रेड से उनके शरीर का तापमान मापते हैं। इस काम में एनजीओ गुंज एक गुहार के वालिंटियर्स भी सहयोग कर रहे हैं। सांसद प्रतिनिधि ने बताया कि शीघ्र ही कोविड हेल्प डेस्क के लिए टोल फ्री नंबर भी आवंटित हो जाएगा। कोविड हेल्प डेस्क की सेवा के लिए लोग 8400005570 और 8543003300 पर कॉल करते हैं।

    यह भी पढ़ें–अराजक तत्व कि मतगणना एजेंट!

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

     

    Previous articleप्रत्याशियों के मतगणना एजेंटों का सीएचसी सादात में हंगामा, तोड़फोड़
    Next articleविधायक अलका राय की बहू की दूसरी जीत, पूर्व प्रमुख रतना को दी मात