डीएम का दावा, ऑक्सीजन सिलिंडर की कोई कमी नहीं

    36
    0

    गाजीपुर। कोरोना पीड़ितों के लिए गाजीपुर में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है और न अस्पताल सहित उपचार के अन्य जरूरी संसाधनों का ही अभाव है। यह दावा डीएम एमपी सिंह का है।

    इस आशय का सवा मिनट का अपना वीडियो संदेश डीएम ने सोमवार को जारी किया। डीएम का यह वीडियो संदेश जिला अस्पताल में दो कोरोना पीड़ितों के तमीरदारों में ऑक्सीजन सिलिंडर की छिनाझपटी का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद आया है। अपने संदेश में डीएम ने इसका जिक्र करते हुए इस संकट की घड़ी में जनसहयोग की अपेक्षा भी की है। उन्होंने कहा है कि लोग सब्र रखें। चिकित्साकर्मियों के प्रति सहयोगात्मक रवैया अपनाएं। कोरोना के लक्षण के संकेत मिलते ही टेस्ट जरूर कराएं। इसकी सुविधा सरकारी अस्पतालों के अलावा मोबाइल टीमों के जरिये उपलब्ध है।

    इसी बीच एसीएमओ उमेश कुमार ने शासनादेश का हवाला देते हुए कोविड हॉस्पिटल बनाए गए निजी हॉस्पिटल संचालकों से कहा है कि वह हर रोज अपने यहां उपलब्ध समान्य सहित आइसोलेशन तथा ऑक्सीजन युक्त बेड की संख्या सूचना बोर्ड पर अंकित करें और इसकी सूचना कोविड कमांड सेंटर के पोर्टल पर भी दें। इसी क्रम में एक सवाल पर एसीएमओ ने स्पष्ट किया कि इन सभी कोविड हॉस्पिटल में पीड़ितों के दाखिले के लिए सीएमओ से इजाजत की जरूरत नहीं पड़ेगी। अलबत्ता, सरकारी अस्पतालों में कोविड पीड़ितों के लिए 70 फीसद बेड कोविड कमांड सेंटर के जरिए आवंटित होंगे जबकि शेष 30 फीसद बेड  अस्पताल प्रशासन के जिम्मे होगा। सरकारी अस्पतालों को भी हर रोज सुबह आठ से शाम चार बजे तक खाली हुए बेड की संख्या सूचनापट्ट पर अंकन और कमांड सेंटर के पोर्टल पर अपलोड करना होगा। एसीएमओ ने यह भी कहा है कि कमांड सेंटर के जरिए जिला प्रशासन की ओर से जारी की गई एडमिशन स्लिप को मानना कोविड हॉस्पिटल प्रशासन के  लिए बाध्यकारी होगा। वरना प्रदेश महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई होगी। कोविड कमांड सेंटर के जरिये भर्ती के लिए अस्पताल जाने वाले संक्रमितों को एंबुलेंस की सुविधा भी मुहैया कराई जाएगी।

    सीएमओ ने बताया कि जिले भर में कुल 14 एल-2 कोविड हॉस्पिटल बनाए गए हैं। जहां कुल 927 बेड उपलब्ध हैं। इनमें निजी हॉस्पिटल शम्मे गौसिया मेडिकल कॉलेज सहेड़ी 107, सिंह लाइफ केयर हॉस्पिटल जमानियां मोड़ 100, गुडविल हॉस्पिटल आमघाट सहकारी कॉलोनी 25, वर्ल्ड ग्रीन हॉस्पिटल सैदपुर 100, केएसबी आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज सादात 100, माता सरस्वती सेवा संस्थान मरदह 150, आरएस हॉस्पिटल देवा दुल्लहपुर 150, धनरावती हॉस्पिटल जखनियां 25 के अलावा जिला अस्पताल 50 सीएचसी सादात, मुहम्मदाबाद, भदौरा, सैदपुर और सीएचसी खानपुर में 30 बेड उपलब्ध हैं। मौजूदा वक्त में गाजीपुर में कुल एक्टीव केस पांच हजार 147 हैं।

    यह भी पढ़ें—भाजपाः दो को ‘उतरन’, एक को ‘गरिमा’

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

    Previous articleभाजपाः जिला पंचायत के लिए तीन नए उम्मीदवार घोषित
    Next articleकामाख्या धाम में चैत्री पूर्णिमा मेला पर भी कोरोना का ग्रहण