भाजपा का इंसाफ! बागी को ‘सजा’ और संरक्षक को ‘माफी’

    31
    0

    गाजीपुर। जिला पंचायत चुनाव में पार्टी से बगावत कर चुनाव लड़ रहे कार्यकर्ताओं को भाजपा छह साल के लिए बाहर का रास्ता दी है।

    जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह के हवाले से मीडिया प्रभारी शशिकांत शर्मा ने सोमवार को यह जानकारी दी। बताया कि बागी प्रत्याशियों की प्राथमिक सदस्यता छह साल के लिए निलंबित कर दी गई है। इनमें जिला पंचायत की बाराचवर प्रथम सीट की लली राय पत्नी राजेश राय, बाराचवर चतुर्थ अंजू सिंह पत्नी अजय सिंह, कासिमाबाद द्वितीय जितेंद्र कुमार सत्यार्थी, कासिमाबाद पंचम सत्यप्रकाश सिंह पप्पू पप्पू, मरदह प्रथम हरिप्रसाद पांडेय, बिरनो तृतीय विवेकानंद पांडेय, जखनियां द्वितीय राजेश कुमार सोनकर, जखनियां चतुर्थ पप्पू गोंड, जखनियां पंचम लक्ष्मण चौहान, सादात द्वितीय शशिकला, सादात तृतीय बृजबाला, सैदपुर तृतीय मिथिलेश दीक्षित, रेवतीपुर प्रथम इंदू सिंह व वंशिका राय, रेवतीपुर द्वितीय अशोक चौरसिया, रेवतीपुर तृतीय मनोज कुमार राय, रेवतीपुर चतुर्थ से सुनंदा सिंह, भदौरा प्रथम ममता सिंह पत्नी भक्ति सिंह, भदौरा चतुर्थ निशा कुमारी और भांवरकोल चतुर्थ से प्रिया उपाध्याय शामिल हैं।

    यह कार्रवाई प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की संस्तुति पर  हुई है। जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह कहना है कि संगठन से जुडकर कार्य करने वाला कोई भी व्यक्ति संगठन के निर्णय एवं सिद्धांत, विचार की अवहेलना कर संगठन में बना नहीं रह सकता लेकिन कार्यकर्ताओं इस कार्रवाई पर सवाल उठा रहे हैं। उनका कहना है कि कार्रवाई बगावत कर चुनाव लड़ने वालों तक ही सीमित है जबकि उनके चुनाव अभियान में ऐलानिया हिस्सेदारी कर रहे पार्टी कार्यकर्ताओं, नेताओं पर चुप्पी साध ली गई है। खासकर महिला बागी उम्मीदवारों के मामले में तो यही बात लागू होती है। उनके पति अथवा अन्य संरक्षक पार्टी के नामदार इलाकाई चेहरे हैं और उन्हीं की पहल पर उन महिलाओं ने यह ‘हिमाकत’ की है। वह चेहरे डंके की चोट पर उनके चुनाव अभियान की अगुवाई भी कर रहे हैं। पार्टी में इनके बड़े पैरोकार भी बैठे हैं।

    …तब क्या पता उनके गिरेबान पर हाथ डालने की हिम्मत पार्टी नेतृत्व में नहीं है या फिर पार्टी का यह इंसाफ दूर की कौड़ी हो। अगर  वह बागी अपने बूते जीत जाते हैं तो जिला पंचायत के चेयरमैन के चुनाव में उन्हीं संरक्षकों के जरिये समर्थन की गुंजाइश जो बनी रहेगी।

    यह भी पढ़ें–भाजपाः दो को ‘उतरन’, एक को ‘गरिमा’!

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

     

    Previous articleकामाख्या धाम में चैत्री पूर्णिमा मेला पर भी कोरोना का ग्रहण
    Next articleसन्नी गैंग के दो शूटर रासुका में निरुद्ध