सांसद अफजाल अंसारी के प्रतिनिधि शिवकुमार राय नहीं रहे

    32
    0

    गाजीपुर। सांसद अफजाल अंसारी के प्रतिनिधि इं. शिवकुमार  राय (67) को भी कोरोना ने नहीं बख्शा। बुधवार की सुबह करीब 11 बजे उनका दम टूट गया।

    करीब दो सप्ताह पहले उन्हें बुखार हुआ था। स्थिति बिगड़ने पर उन्हें 17 अप्रैल की सुबह पैतृक गांव अवथही से लाकर जिला अस्पताल में दाखिल कराया गया। जहां कोरोना की जांच हुई लेकिन रिपोर्ट निगेटिव आई। बावजूद उनकी तबीयत में अपेक्षित सुधार नहीं हुआ। उनके छोटे भाई आईएएस बृजराज राय (बिहार कॉडर) बेहतर इलाज के लिए उन्हें पटना ले गए। वहां दोबारा कोरोना की जांच हुई। रिपोर्ट पॉजिटिव आई और तबीयत में सुधार भी होने लगा लेकिन अचानक मंगलवार की रात से तबीयत फिर बिगड़ने लगी और लाख प्रयास के बाद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका। उनकी अंत्येष्टि पटना में ही हुई। मुखाग्नि उनके ज्येष्ठ पुत्र शशांक शेखर ने दी।

    शिवकुमार राय उद्यमी के साथ ही समाजसेवी और समाजवादी विचारधारा से गहरे जुड़े थे। वह गाजीपुर के पूर्व सांसद स्व. गौरी शंकर राय के भी अभिन्न थे। गौरी शंकर राय महिला महाविद्यालय करनई बलिया के प्रबंधक भी थे।

    शिवकुमार राय के निधन से आहत सांसद अफजाल अंसारी ने कहा कि शिवकुमार राय का अचानक जाना उनके लिए निजी और अपूर्णीय क्षति है। वह निहायत काबिल, जिंदादिल और भरोसेमंद इंसान थे। मेरी नामौजूदगी में भी वह प्रशासनिक स्तर के कामकाज बखूबी निभाते थे। उनकी काबिलियत और अनुभव की प्रशासनिक अधिकारी भी दाद देते थे। शिवकुमार राय के गहरे मित्र पूर्व ब्लॉक प्रमुख शारदानंद राय लुटूर ने भी कहा कि शिवकुमार राय का अचानक जाना निजी तौर पर उनकी बड़ी क्षति है और भविष्य में इसकी भरपाई नहीं हो सकती। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मुन्नन यादव ने कहा कि शिवकुमार राय समाजवादी विचारधारा को लेकर पूरी तरह प्रतिबद्ध थे।

    यह भी पढ़ें—पूर्व प्रमुख निर्विरोध

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

    Previous articleपूर्व प्रमुख विजय यादव की ‘जीत’, निर्विरोध बने बीडीसी सदस्य
    Next articleएआरटीओ ऑफिस में पहली तक नहीं बनेगा ड्राइविंग लाइसेंस