डिस्ट्रिक्ट कोर्ट सहित मुहम्मदाबाद व सैदपुर की कोर्ट बंद

    40
    0

    गाजीपुर। कोर्ट कर्मियों के कोरोना संक्रमित होने के कारण डिस्ट्रिक्ट सहित मुहम्मदाबाद तथा सैदपुर की कोर्ट 22 व 23 अप्रैल को बंद रहेगी। इस आशय का आदेश डिस्ट्रिक्ट जज प्रशांत मिश्र ने मंगलवार को कोविड-19 को लेकर गठित कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर दिया।

    रिपोर्ट में बताया गया कि डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में अपर न्यायिक मजिस्ट्रेट (चतुर्थ) कुमारी अनामिका चौहान, अपर सिविल जज प्रथम (जूनियर डिवीजन) आदर्श अमोल तथा तृतीय श्रेणी कर्मचारी पंकज श्रीवास्तव के अलावा मुहम्मदाबाद के सिविल जज (जूनियर डिवीजन) शिवजी यादव सहित तृतीय श्रेणी कर्मचारी शिवांशु पांडेय, अशोक तिवारी, मोनू बिंद व विशाल सिंह कोरोना से संक्रमित हैं। इनके पहले भी कई न्यायिक अधिकारी तथा कर्मचारी संक्रमित होने के बाद होम कोरंटाइन हैं। जाहिर है कि इन सभी के ऑन ड्यूटी रहते इनके संपर्क में आए अन्य लोगों के भी संक्रमित होने का खतरा बना हुआ है। लिहाजा डिस्ट्रिक्ट कोर्ट सहित मुहम्मदाबाद तथा सैदपुर कोर्ट के कक्ष, परिसर तथा वकीलों के चेंबर वगैरह का सेनेटाइजेशन करना जरूरी है। यह काम दो दिवसीय बंदी में किया जाएगा।

    इस बंदी की अवधि में सेशन कोर्ट के रिमांड के कार्य के लिए एडीजे विष्णुचंद्र वैश्य की ड्यूटी लगाई गई है। इसी तरह ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट कोर्ट में रिमांड का काम सीजेएम अलग से करेंगे जबकि 22 अप्रैल को नियत जमानत प्रार्थना पत्र तथा एडमिशन की पत्रावलियों में 27 अप्रैल की तारीख और 23 अप्रैल को नियत जमानत प्रार्थना पत्र एवं एडमिशन की पत्रावलियों में 28 अप्रैल की तारीख निर्धारीत की गई है। इसी तरह 22 अप्रैल को नियत मुकदमों के लिए 20 मई व 23 अप्रैल के नियत मुकदमों में 21 मई की तारीख तय कर दी गई है।

    मालूम हो कि अब कोर्ट सीधे 26 अप्रैल को खुलेंगी। 21 को  रामनवमी की छु्ट्टी रहेगी। फिर 24 को इस माह के चौथे शनिवार की छुट्टी पड़ेगी। 25 अप्रैल को रविवार की सप्ताहिक बंदी है।

    यह भी पढ़ें—सांसद अतुल का सियासी फंडा साफ !

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

    Previous articleसांसद अतुल इलाकाई राजनीति से खुद को किए दूर
    Next articleकरोना: शहर के भी दो निजी अस्पताल अधिग्रहित