सपाः राधेमोहन ने जीत ली पहली लड़ाई! सीधे राष्ट्रीय अध्यक्ष की दखल पर पत्नी को मिला टिकट

    34
    0

    गाजीपुर। समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह ने जिला पंचायत चुनाव में पहली लड़ाई जीत ली है। सीधे राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की दखल पर उनकी पत्नी अंजना सिंह को जिला नेतृत्व ने सैदपुर प्रथम सीट से पार्टी का अधिकृत उम्मीदवार घोषित कर दिया।

    सोमवार को पार्टी उम्मीदवारों की घोषित सूची में अंजना सिंह का नाम नहीं था। अंजना सिंह को जिला पंचायत का भावी चेयरमैन मानकर चल रहे पार्टीजनों के लिए वह हैरानी वाली बात थी।

    इसी बीच मंगलवार की शाम जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने मीडिया को चिट्ठी जारी कर प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल के हवाले से बताया कि जिला पंचायत की सैदपुर प्रथम सीट से अंजना सिंह पत्नी पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह और कासिमाबाद पंचम सीट से केशव यादव पार्टी के अधिकृत उम्मीदवार होंगे। एक सवाल पर जिलाध्यक्ष ने कहा कि पार्टी के अधिकृत उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित कराने के लिए उनके प्रचार अभियान में संगठन पूरे दमखम के साथ जुटेगा।

    पार्टी की गतिविधियों पर नजर रखने वालों का कहना है कि जिला नेतृत्व की ओर से अधिकृत उम्मीदवारों की सूची घोषित करने के दूसरे ही दिन और दो अधिकृत उम्मीदवारों की घोषण महज इत्तेफाक नहीं है। बल्कि पार्टी के अंदर वर्चस्व को लेकर चल रही पालेबंदी का नतीजा है और उसमें जिलाध्यक्ष मोहरा भर हैं। एक खेमे ने टिकट बंटवारे के बहाने न सिर्फ पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह को नीचा दिखाने की साजिश की। बल्कि पूर्व एमएलसी काशीनाथ यादव की हैसियत को भी कमतर करने की कोशिश की गई लेकिन यह पूरा मामला राष्ट्रीय अध्यक्ष तक पहुंचा तब उस खेमे का खेल बिगड़ गया।

    उधर अंजना सिंह की उम्मीदवारी घोषित होने पर जिला पंचायत के सैदपुर प्रथम सीट से जुड़े पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता उत्साहित हो गए हैं। उनका तो दावा है कि अंजना सिंह को जिला पंचायत सदस्य तक ही नहीं रहना है। उनकी चेयरमैन तक की कुर्सी पक्की है।

    यह भी पढ़ें—विधायकों को भी नकारे सपाई!

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

    Previous articleजिला पंचायतः कई जगह सपा की ‘फ्री फाइट’
    Next articleभैंस बनी काल, मां-बेटे की ली जान