‘पंचायत चुनाव में महिला कर्मियों की न लगाई जाए ड्यूटी’

    64
    0

    गाजीपुर। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद पंचायत चुनाव में ड्यूटी को लेकर राज्यकर्मियों खातिर सहूलियत की अपेक्षा रखता है।

    इस सिलसिले में परिषद के जिलाध्यक्ष अंबिका दूबे ने डीएम को पांच सूत्री मांग पत्र प्रेषित किया है। पत्र में उन्होंने महिला कर्मचारियों विशेष कर गर्भवती महिला कर्मचारियों और रोग ग्रस्त, अशक्त, दिव्यांग कर्मचारियों को ड्यूटी से मुक्त रखने के साथ ही अपने परिवार में मांगलिक कार्यक्रमों के आयोजक कर्मचारियों की भी ड्यूटी न लगाने का आग्रह किया है। पत्र में उन्होंने मतदान केंद्रों तक परिवहन व्यवस्था में ट्रक सहित अन्य मालवाहक वाहनों के इस्तेमाल न करने की भी गुजारिश की है। फिर यह भी कहा है कि कोविड-19 की बेतहाशा बढ़ती रफ्तार को देखते हुए चुनाव ड्यूटी पर रवानगी से पूर्व कर्मचारियों के वैक्सीनेशन और हैंड ग्लब्स, मास्क, सेनेटाइजर की व्यवस्था उपलब्ध कराई जाए।

    इस मांग पत्र का हवाला देते हुए परिषद के जिला मीडिया प्रभारी प्रमोद मिश्र ने बताया कि जिलाध्यक्ष ने पत्र के आखिर में डीएम को आश्वस्त किया है कि राज्यकर्मी पंचायत चुनाव को निष्पक्षता, पारदर्शिता और निष्ठा के साथ संपादित कराने में हर संभव सहयोग करेंगे।

    …और हाईकोर्ट का आदेश

    कोरोना को लेकर एक जनहित याचिका पर मंगलवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट का अहम आदेश आया है। उसके तहत किसी भी सूरत में पंचायत चुनाव में भीड़ की स्थिति न बनने देने को कहा गया है। स्पष्ट कहा गया है कि चुनाव प्रक्रिया में नामांकन, प्रचार अभियान और मतदान के वक्त कोविड-19 से बचाव के सारे जरूरी उपाय सुनिश्चित किए जाएं।

    यह भी पढ़ें—लपेटे में नेताजी!

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

    Previous articleसोलर बैट्री लगवा कर वोट की जुगत में फंस गए नेताजी
    Next articleकिशोरी संग दुष्कर्म के मामले में युवक को दस साल की कैद