शैक्षणिक प्रमाण पत्रों में जालसाजी कर मृतक आश्रित कोटे में नियुक्त ग्राम पंचायत अधिकारी बर्खास्त

    32
    0

    गाजीपुर। फर्जी शैक्षणिक प्रमाण पत्र के बूते मृतक आश्रित कोटे से नौकरी पाने वाले ग्राम पंचायत अधिकारी भोला राम चौरसिया को डीपीआरओ ने बर्खास्त कर दिया है। वह भांवरकोल ब्लाक की मिश्रवलिया ग्राम पंचायत में तैनात था।

    ग्रामीणों की शिकायत पर कुछ दिन पहले उसे जिला मुख्यालय से अटैच किया गया था। साथ ही उसके फर्जीवाड़े की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति गठित की गई थी। जांच में पता चला कि नियुक्ति के वक्त उसकी ओर से उपलब्ध कराए गए हाईस्कूल का अंकपत्र फर्जी है। उसका सत्यापन जनता जनार्दन इंटर कॉलेज गांधी नगर के अलावा यूपी बोर्ड से कराया गया।

    जांच में शिकायत की पुष्टि के बाद डीपीआरओ ने उससे जवाब तलब किया लेकिन उसने कोई जवाब नहीं दिया। आखिर में डीपीआरओ ने एकपक्षीय कार्रवाई करते हुए उसे बर्खास्त कर दिया। मजे की बात यह कि उसके रिटायरमेंट में महज ढाई साल ही रह गए थे।

    यह भी पढ़ें—यूपी बोर्ड: भाजपाई तक बेदख़ल

    डीपीआरओ ने बताया कि बर्खास्त ग्राम पंचायत अधिकारी के विरुद्ध एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी। साथ ही उससे वेतन की रिकवरी भी होगी।

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

    Previous articleयूपी बोर्ड: प्रस्तावित परीक्षा केंद्रों की सूची में संघ और भाजपा के कई नेताओं के स्कूल गायब
    Next articleपंचायत चुनाव: वोटर लिस्ट में नाम दर्ज कराने का अभी है मौका