…जब डोम समुदाय की रेशमा को मिला ध्वजारोहण का मौका

    37
    0

    गाजीपुर। गणतंत्र दिवस पर मंगलवार को पूर्व ब्लाक प्रमुख मित्रसेन प्रधान अंत्येष्टि स्थल मां गंगा तट सुल्तानपुर पर भी ध्वजारोहण हुआ। ध्वजारोहण डोम समुदाय की रेशमा देवी ने किया। रेशमा देवी ने जीवन में कभी किसी राष्ट्रीय पर्व में भाग नहीं लिया था। ध्वजारोहण स्थल पर पूजन करते हुए रेशमा देवी भावुक हो गईं थीं।

    ध्वजारोहण के बाद पूर्व ब्लाक प्रमुख मित्रसेन प्रधान अंत्येष्टि स्थल हुए समारोह में अधिवक्ता डॉ. अविनाश प्रधान ने कहा कि आज हम जिन अधिकारों का प्रयोग कर रहे हैं, वह संविधान की देन है। इसी संविधान को 26 जनवरी 1950को लागू किया गया था। संविधान ने हमें समानता, जीवन, न्याय, धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार दिया। संविधान पर यदि खतरा आए तो हमें उसे बचाने के लिए लड़ने को तैयार रहना चाहिए। मां गंगा को साफ रखना और पर्यावरण की सुरक्षा हमारा कर्तव्य है। पूर्व ब्लाक प्रमुख मित्रसेन प्रधान अंत्येष्टि स्थल पर आने वाले शवयात्रियों को को तकलीफ न हो इसका ख्याल रखना है। उनसे आग्रह करना होगा कि जल प्रवाह न करते हुए शवदाह करें।

    भारत सरकार बनारस के डोमराजा रहे जगदीश चौधरी को पद्मश्री से सम्मानित करने पर डोम समुदाय ने तालियों की गड़गड़ाहट के साथ प्रसन्नता व्यक्त करते हुए सरकार के प्रति आभार ज्ञापित किया गया।  कार्यक्रम के पहले सफाई अभियान चला। कार्यक्रम में आशिक डोम, अरविंद प्रधान, बिरजू डोम, संतोष प्रधान, संजय डोम, अरविंद यादव, ओमप्रकाश डोम, सतीश दास,गोविंदा डोम, बैरागी, बबलू डोम, रविंद्र पासवान आदि मौजूद थे। संचालन सुनील प्रधान लालू ने किया।

    यह भी पढ़ें–बिजली उपभोक्ताओं का झंझट खत्म!

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें 

    Previous articleप्रभारी मंत्री लेंगे गणतंत्र दिवस परेड की सलामी
    Next articleडढ़वल गांव पहुंच शिक्षक के हमले में जख्मी छात्रा के परिवारीजनों से मिलेंगे अनिल राजभर