बीएसए के दुलरुए एबीएसए के `कैरियर` का वीडियो वायरल

    36
    0

    गाजीपुर। बीएसए के दुलरुए एबीएसए के `कैरियर` का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। हलांकि `आजकल समाचार` उस वीडियो की प्रमाणिकता की पुष्टि नहीं करता लेकिन उस वीडियो में एक शिक्षक रुपये वसूलते साफ दिख रहा है।

    बताया जा रहा है कि वह शिक्षक सलाहुद्दीन प्राथमिक विद्यालय, भांवरकोल में तैनात हैं और वहीं के बीआरसी में उनकी वसूली का वीडियो शूट किया गया है। यह वसूली ब्लाक के एक अन्य प्राथमिक विद्यालय की प्रबंध समिति के खाते की ऑडिट के नाम पर एबीएसए का हवाला देकर की जा रही है। बताते हैं कि जब कुछ शिक्षकों ने इस पर टोका-टोकी की तो उन्हें यह कह कर चुप करा दिया गया कि वसूले गए रुपये में बीएसए की भी हिस्सेदारी है।

    इस बात में जो सच्चाई हो लेकिन यह जरूर है कि एबीएसए जयराम पाल बीएसए श्रवण कुमार के अति करीबी माने जाते हैं। यही वजह है कि उनकी मूल नियुक्ति तो भांवरकोल है लेकिन करंडा का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। फिर एमडीएम का भी प्रभार उन्हीं के पास है।

    वीडियो में रुपये की वसूली क्या वाकई विद्यालय की प्रबंध समिति की ऑडिट के नाम पर हो रही है। इसका जवाब तो जांच के बाद ही मिलेगा लेकिन यह सवाल तो जरूर है कि ऑन ड्यूटी एक सहायक शिक्षक बीआरसी में किस हैसियत से विराजमान है और उसे रुपये वसूलने का अधिकार किसने दिया।

    इस सिलसिले में बीएसए से संपर्क के लिए कई बार फोन लगाया गया लेकिन वह रिसीव नहीं किए। अंत में फोन रिसीव किए तो यह कह कर काट दिए कि वह मीटिंग में व्यस्त हैं। उधर खुद का वीडियो वायरल होने के बावजूद एबीएसए सलाहुद्दीन ताल ठोक कर कह रहे हैं कि उनका कुछ नहीं बिगड़ेगा।

    भांवरकोल बीआरसी में वसूली का वायरल वीडियो देखें..

    मजे की बात यह कि प्रदेश सरकार के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी विभाग के कामकाज में पारदर्शिता लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। बावजूद गाजीपुर में विभागीय कर्मी ऐसे कृत्य में लिप्त हैं।

    यह भी पढ़ें–वाह! टॉप टेन स्कूल

    आजकल समाचार’ की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें 

    Previous articleराष्ट्रीय स्तर की कुश्ती प्रतियोगिता में गाजीपुर के मुलायम दिखाएंगे दमखम
    Next articleयुवा अदाकार वैभव सिंह बॉलीवुड में मचाएंगे धमाल, 3 इंडियंस से मिला ब्रेक, 26 को होगी रिलीज