सवा माह बाद ही सुहागन बनी विधवा, सड़क हादसे में पति की मौत

    59
    0

    बाराचवर,गाजीपुर (यशवंत सिंह)। लोक मान्यता है कि आने वाले अशुभ पल के संकेत पहले ही मिल जाते हैं। नसीराबाद गांव में ब्याही अनिता के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ।

    रविवार की सुबह अनिता के हाथ से उसका सिन्होरा छूट कर नीचे गिर गया। वह इस वाकये को गंभीरता से ली और अपने काम पर जा रहे राजमिस्त्री मनोज राजभर (25) को घर से निकलने से रोकी मगर मनोज उसका कहा नहीं माना। कुछ ही देर बाद घर सूचना पहुंची की मनोज की बाइक अमहट चट्टी पर किसी चार पहिया वाहन से टकरा गई है और उसमें मनोज की जान चली गई है। यह दुखद सूचना अनिता के लिए बज्रपात की तरह थी। वह खड़े-खड़े अचेत होकर गिर पड़ी। घर में कोहराम मच गया।

    अनिता का मायका ताजपुर गांव में है। उसकी शादी पिछले साल ही 25 नवंबर को हुई थी और एक माह 22 दिन में ही उस अभागन की मांग उजड़ गई। पति मनोज किसी खाड़ी देश में काम करता था लेकिन शादी के लिए घर लौटा था। फिर वह वहां नहीं गया और यहीं काम करने लगा था।

    यह भी पढ़ें—अफ़सोसनाक! यूनिवर्सिटी बनाम गूगल

    आजकल समाचार की खबरों के लिए नोटिफिकेशन एलाऊ करें

     

    Previous articleगूगल के कारण गफ़लत में पड़ी पूर्वांचल यूनिवर्सिटी, अब 18 की छु्ट्टी कैंसिल
    Next articleशेरपुरः इस बार खुर्द देगा कलॉ को कड़ी चुनौती!