डीएम तक पहुंचा रिश्वतखोर ग्राम प्रधान का मामला, बीडीओ बाराचवर करेंगे जांच

    35
    0

    बाराचवर (गाजीपुर)। टोडरपुर ग्राम पंचायत के प्रधान मुन्ना राजभर के रिश्वत मांगने का वायरल वीडियो का मामला डीएम एमपी सिंह तक पहुंच गया है। अब पूरे मामले की जांच बीडीओ बाराचवर शिवांकित वर्मा करेंगे।

    यह भी पढ़ें—शिक्षक नकली पगार असली

    यह प्रकरण संज्ञान में आने के बाद डीएम ने बीडीओ बाराचवर से पूरी जानकरी ली। बीडीओ ने उन्हें बताया कि वह खुद टोडरपुर ग्राम पंचायत में जाएंगे और आवासीय तथा शौचालय योजना के तहत वहां हुए कार्यों की स्थलीय जांच करेंगे। साथ ही पात्रों से वायरल वीडियो की सत्यता की पुष्टि भी करेंगे। बीडीओ ने ‘आजकल समाचार’ से बातचीत में यह जानकारी दी।

    मालूम हो कि कुछ ही दिन पहले वायरल वीडियो में ग्राम प्रधान अपनी ग्राम पंचायत की किसी जरूरतमंद महिला से अवासीय-शौचालय की योजना से लाभान्वित करने के एवज में 15 हजार की रिश्वत मांगते सुनाई पड़ रहे थे। वह इस रकम में ग्राम पंचायत के सेक्रेटरी सहित अन्य अधिकारियों के हिस्से की राशि का भी जिक्र कर रहे थे।

    यह वही मुन्ना राजभर है जिसे समाज कल्याण विभाग मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना का ‘ब्रांड एम्बेस्डर’ मानता रहा है। वह इस योजना के तहत बाराचवर सहित गाजीपुर  के लगभग सभी ब्लाकों में कुल 1001 कन्याओं का विवाह भी करा चुका है।

    अब जबकि ग्राम प्रधान के रिश्वतखोरी सरेआम हुई है तो ग्राम पंचायत टोडरपुर के लोग उसकी और भी करतूतों की खुलेआम चर्चा करने लगे हैं। कहा जा रहा है कि ग्राम प्रधान ने अन्य विकाश कार्यों में भी खूब लूटपाट की है। यहां तक कि वह सामूहिक विवाह कराने के नाम पर गरीबों को मुफ्त और सस्ती दर पर मिलने वाला राशन भी हड़प लेता था।

    Previous articleदूसरे की डिग्री पर पांच साल से कर रही थी शिक्षक की नौकरी, बर्खास्त
    Next articleअंसारी बंधुओं से मेरा दुराव नहीं: ओमप्रकाश राजभर