सामूहिक विवाह करा बटोरी थी वाहवाही, अब हो रही थूड़ी-थूड़ी

    36
    0

    बाराचवर, गाजीपुर (यशवंत सिंह)। टोडरपुर ग्राम पंचायत के प्रधान मुन्ना राजभर के दो चेहरे  हैं। एक चेहरा सरकारी योजना के तहत गरीब परिवारों की बेटियों के हाथ पीले करा कर पुण्य लाभ लेने का और दूसरा चेहरा गरीब परिवारों को शौचालय-आवास मुहैया कराने के नाम पर खुलेआम रिश्वत वसूलने का। इसका यह दोहरा चेहरा एक वायरल वीडियो से सामने आया है।

    यह भी पढ़ें—फोन पर गुडबॉय फिर गंगा में डाईव

    वायरल वीडियो में ग्राम प्रधान अपनी ग्राम पंचायत की किसी जरूरतमंद महिला से अवासीय-शौचालय की योजना से लाभान्वित करने के एवज में 15 हजार की रिश्वत मांग रहा है। वह इस रकम में ग्राम पंचायत के सेक्रेटरी सहित अन्य अधिकारियों के हिस्से की राशि का भी जिक्र करते सुनाई पड़ रहा है। यहां तक कि वह यह भी बता रहा है कि ग्राम पंचायत के अन्य पात्रों ने भी रिश्वत दी है। वह यह भी भरोसा देते सुनाई पड़ रहा है कि रिश्वत की अदायगी के बाद उसे योजना का लाभ लेने में कोई व्यवधान आड़े नहीं आने देगा।

    यह वही मुन्ना राजभर है जिसे समाज कल्याण विभाग मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना का ‘ब्रांड एम्बेस्डर’ मानता है। वह इस योजना के तहत बाराचवर सहित गाजीपुर  के लगभग सभी ब्लाकों में कुल 1001 कन्याओं का विवाह भी करा चुका है।

    अब जबकि आवास-शौचालय की सरकारी योजना से लाभान्वित कराने के नाम पर रिश्वत की  मांग का उसका वीडियो वायरल हो रहा है तो लोग मुख्यमंत्री सामुहिक विवाह योजना में भी पाप कर्म ढूंढने लगे हैं।

    इस वायरल वीडियो के बाबत टोडरपुर ग्राम पंचायत के सेक्रेटरी मुकेश कुमार सिंह से इस प्रतिनिधि ने चर्चा की तो उन्होंने ऐसे किसी भी रिश्वतखोरी में अपनी हिस्सेदारी से साफ इन्कार किया। उधर बीडीओ शिवांकित वर्मा ने कहा कि अगर वीडियो में सत्यता होगी तो निश्चित रूप से ग्राम प्रधान के विरुद्ध आपराधिक मामला दर्ज कराया जाएगा। वैसे ‘आजकल समाचार’ वायरल वीडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता।

    Previous articleमुहब्बत में बेवफाई से आहत आईटीआई का छात्र गंगा में कूदा
    Next articleप्रॉपर्टी डीलर के विरुद्ध प्रशासनिक कार्रवाई पर हाईकोर्ट खफा