हड़ताल पर रहेंगे निजी चिकित्सक, 24 घंटे बंद रहेंगे नर्सिंग होम

    39
    0

    गाजीपुर। चिकित्सा के क्षेत्र में मिक्सोपैथी को मान्यता देने का सरकारी फैसला एलोपैथ के चिकित्सकों को स्वीकार नहीं है। सरकार की ओर से लाई गई इस आशय की बिल के विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने 11 दिसंबर की सुबह छह बजे से 24 घंटे की हड़ताल का आह्वान किया है।

    यह भी पढ़ें—वाकई! हाईकोर्ट के वकील ने मारी गोली

    आईएमए की गाजीपुर इकाई की गुरुवार को हुई बैठक में प्रस्तावित देशव्यापी हड़ताल को सफल बनाने की रणनीति पर विस्तार से चर्चा हुई। तय हुआ कि हड़ताल अवधि में निजी अस्पतालों में  इमरजेंसी सेवा तथा कोविड-19 सेवा को छोड़ कर अन्य सभी सेवाएं ठप रहेंगी। साथ ही आईएमए का प्रतिनिधिमंडल सुबह 11 डीएम से मिलेगा और प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपेगा। बैठक में कहा गया कि मिक्सोपैथी बिल के जरिए सरकार आयुष चिकित्सकों को भी सर्जरी का अधिकार देकर आमजन के साथ खिलवाड़ किया गया है। इसे मार्डन मेडिसीन के चिकित्सक कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।

    बैठक में अर्चाना सिंह, केके सिंह, एसके राय, शरद राय, राजेश सिंह, रजनिश राय, राजेश राय, अनुपमा सिंह, शशांक सूर्यवंशी, कल्पना गुप्ता, अनामिका, जेसी राय, सतेंद्र पाल आदि थे। अध्यक्षता बावन दास गुप्त तथा संचालन जेएस राय ने किया।

    Previous articleगली के विवाद को लेकर पटीदारों ने पूर्व फौजी को मारी गोली, हाईकोर्ट के वकिल सहित चार नामजद
    Next articleपति और बेटों संग दहेज उत्पीड़न में फंसी भाजपा की पूर्व एमएलसी वीणा पांडेय