हर ग्राम पंचायत में एक महिला को मिलेगा रोजगार, पहले चरण में 72 की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू

    31
    0

    गाजीपुर। योगी सरकार हर ग्राम पंचायत में एक महिला को रोजगार देने का अवसर बनाई है। गाजीपुर में कुल 1237 ग्राम पंचायतें हैं। इनमें 72 ग्राम पंचायतों में नियुक्ति की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है।

    यह भी पढ़ें—कृपया रेल यात्रीगण ध्यान दें

    ग्राम पंचायतों में भारत स्वच्छता मिशन के तहत सामुदायिक शौचालय बनाए जा रहे है। उन शौचालयों की देख रेख और सफाई के लिए महिलाओं की नियुक्ति होनी है। नियुक्त महिला को हर माह छह हजार रुपये बतौर मानदेय दिए जाएंगे। इसके अलावा ग्राम पंचायत को अलग से तीन हजार रुपये मिलेंगे। उस राशि में ग्राम पंचायत सामुदायिक शौचालय में बिजली, नल टोटी की मरम्मत के लिए 500 रुपये खर्च करेगी। फिर झाडू, ब्रश, वाईपर, स्पंज, कपड़े, पोछा, बाल्टी, मग वगैरह के लिए हर छह माह पर 1200 रुपये खर्च करेगी। साथ ही साबून, वाशिंग पाउडर, एयर फ्रेश्नर, ग्लब्स, हारपिक, मास्क, एप्रेन के लिए प्रति माह 1000 रुपये खर्च होंगे। यूटिलिटी चार्जेज के रुप में हर माह पानी, बिजली, सॉलिड वेस्ट प्रबंध के लिए हर माह 1000 रुपये खर्च होंगे।

    प्रभारी डीपीआरओ रमेश उपाध्याय ने बताया कि गाजीपुर में पहले चरण में 72 ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालयों का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। वहां उनकी देखरेख, सफाई के लिए महिलाओं की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू है। एक सप्ताह में यह पूरी भी हो जाएगी। उन्होंने बताया कि नियुक्ति का अधिकार ग्राम पंचायतों को दिया गया है। शौचालयों की सफाई और रख रखाव में इस्तेमाल होने वाली सामग्री की खरीदारी भी ग्राम पंचायतें करेंगी।

    प्रभारी डीपीआरओ ने एक सवाल पर बताया कि सामुदायिक शौचालय के लिए नियुक्ति में ग्राम पंचायत में गठित स्वंय सहायता समूह की सबसे गरीब सदस्य महिला को प्राथमिकता दी जाएगी। जिन ग्राम पंचायतों में स्वंय सहायता समूह नहीं होंगे वहां निर्मित सामुदायिक शौचालय के इस्तेमाल करने वाली महिलाओं की कमेटी की ओर से तय की गई महिला की नियुक्ति की जाएगी।

    Previous articleरेल यात्रियों के लिए अहम सूचना, पहली से चलेगी डुप्लीकेट शिवगंगा
    Next articleमाध्यमिक स्कूलों में शीघ्र शुरू होंगी जूनियर हाईस्कूल की भी कक्षाएं