जमानियां: हड़ताल पर रहे वकील, सड़क पर उतरने की चेतावनी

    47
    0

    गाजीपुर। जमानियां तहसील के वकील तहसीलदार के पेशकार को किसी भी दशा में बर्दाश्त करने को तैयार नहीं हैं। इस मुद्दे को लेकर सोमवार को वकील पूरे दिन हड़ताल पर रहे और बार एसोसिएशन के बैनर तले धरना-प्रदर्शन किए।

    इस मौके पर एसोसिएशन के अध्यक्ष गोरखनाथ सिंह ने कहा कि तहसीलदार के पेशकार शैलेंद्र यादव के रहते समुचित तरीके से न्यायिक कार्य संभव नहीं है। लिहाजा उन्हें हटाना ही होगा। उन्होंने प्रशासन को 26 नवंबर तक की मोहलत दी और कहा कि अगर पेशकार नहीं हटे तो वकीलगण सड़क पर उतरने में भी परहेज नहीं करेंगे। इस मौके पर एसडीएम की कार्यप्रणाली की भी बात उठी। कहा गया कि एसडीएम जनता दर्शन के तय समय में उपलब्ध नहीं रहते हैं।

    यह भी पढ़ें—शिक्षक भर्तीः 50 हजार और नियुक्ति!

    धरना-प्रदर्शन में सुरेंद्र प्रसाद, राजवंश सिंह, रामजी राय, नंदकिशोर राय, श्रवण, मेराज हसन, ज्ञान सागर श्रीवास्तव, फैसल होदा, घनश्याम सिंह, उदय नारायण सिंह, बृजेश आदि थे। संचालन राम जी राय ने किया। अंत में कमिश्नर, डीएम तथा राजस्व परिषद को सात सूत्री ज्ञापन भी प्रेषित किया गया।

    उधर एसडीएम जमानियां शैलेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि तहसीलदार के पेशकार को हटाने की सम्मानित वकीलों की मांग को वह खुद गंभीरता से लिए हैं। अव्वल तो पेशकार का स्थानांतरण उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं है। इसके लिए उन्होंने डीएम को चिट्ठी भेजी है। तहसील स्तर पर भी वैकल्पिक व्यवस्था देखी जा रही है। रही बात उनकी खुद की जनता दर्शन में समय से अनुपलब्धता की तो यह गलत है। वह अपने दफ्तर में पर्याप्त समय देते हैं।

    Previous articleपरिषदीय स्कूलों में और 50 हजार सहायक अध्यापकों की होगी नियुक्ति!
    Next articleघट रहे कोरोना के केस मगर प्रशासन ढिलाई के मूड में नहीं, समारोहों में 100 से अधिक की भीड़ पर रोक