पत्नी का गला रेत युवक ने लगा ली फांसी, घटना करंडा के दीनापुर गांव की

    39
    0

    गाजीपुर। करंडा थाने के तुलसीपुर (दीनापुर) गांव में मंगलवार की सुबह युवक संतोष बिंद (25) का शव बबूल के पेड़ से फंदे पर लटकता मिला। पास में ही उसकी पत्नी कविता (20) लहूलुहान मिली। उसका गला रेता गया था। संतोष मूलतः चंदौली के धीना थाने के मुरलीपुर गांव का रहने वाला था जबकि उसकी पत्नी का मायका श्रीगंज (नंदगंज) में है। मौके पर संतोष की बाइक पड़ी थी। वहां रक्तरंजित चाकू भी मिला।

    बकौल पुलिस कप्तान डॉ.ओमप्रकाश सिंह, घायल कविता ने जिला अस्पताल में मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान दिया है कि संतोष ने पहले पत्नी कविता का चाकू से गला रेता। उसके बाद वह उसी की साड़ी से फंदा बनाकर खुद फांसी लगा लिया। कविता संतोष सोमवार की शाम करीब साढ़े चार बजे कविता को लेकर श्रीगंज से अपनी बहन की ससुराल तुलसीपुर के लिए चला था।

    यह भी पढ़ें–तीन असलहे भी लूट ले गया था सन्नी गैंग

    हालांकि जिस दशा में संतोष का शव पड़ा था। उससे यह नहीं लग रहा कि संतोष ने खुद फांसी लगाई होगी। जमीन पर उसका शव घुटने के बल पड़ा था लेकिन मौके पर भी ग्रामीणों ने कविता से पूरे घटनाक्रम की जानकारी चाही पर बोलने में वह असमर्थता जताई तब उसे कागज-कलम दिया गया। उसमें भी वह जैसे-तैसे वही बात लिखी, जैसा कि बाद में जिला अस्पताल में मजिस्ट्रेट को अपने बयान में दी।

    उधर कविता के मायके श्रीगंज के लोगों का कहना है कि संतोष करीब एक माह से ससुराल में ही था। पति-पत्नी में कोई विवाद नहीं था। दोनों तुलसीपुर के लिए राजीखुशी निकले थे। संतोष कविता के साथ सुबह श्रीगंज लौटने की भी बात कहा था। इनकी शादी दो साल पहले हुई थी। संतोष की यह दूसरी शादी थी। पहली पत्नी का निधन हो गया था। उससे एक पुत्र तथा पुत्री है जबकि कविता से उसे कोई संतान नहीं है।

    कविता को जिला अस्पताल से वाराणसी के लिए रेफर कर दिया गया है। पुलिस कप्तान के अनुसार उसकी हालत खतरे से बाहर है।

     

     

    Previous articleदरवाजे पर चढ़ कर अधेड़ की हत्या, भतीजा सहित दो जख्मी
    Next articleमामूली बेपरवाही से वह शातिर पहुंच गए सलाखों के पीछे