खुल गए स्कूल, कुछ ज्यादा ही उत्साहित दिखीं बच्चियां

    36
    0

    गाजीपुर। यूपी बोर्ड, सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के स्कूल सोमवार से खुल गए। इसको लेकर बच्चों की अपेक्षा बच्चियों में ज्यादा उत्साह दिखा।

    शासन की गाइडलाइन के तहत फिलहाल कक्षा नौ से 12 तक की ही कक्षाएं संचालित होंगी। पहली पाली सुबह आठ से 11 कक्षा नौ व दस तथा दूसरी पाली में कक्षा 11 से 12 तक सुबह 11 से शाम दो बजे तक बच्चे होंगे।

    पहले दिन ‘आजकल समाचार’ ने कुछ स्कूलों का जायजा लिया। लगभग हर स्कूल में कोविड-19 का प्रोटोकॉल का पालन हो रहा था। बच्चे मास्क लगाए थे। कक्षाओं में छह फीट की दूरी पर बच्चे बैठे थे।  प्रतिदिन 50 फीसद बच्चों को बुलाना है। कुछ स्कूलों में 50 फीसद की उपस्थिति दिखी। तो कहीं 30-40 फीसद ही बच्चे आए थे। उपस्थित बच्चे शासनादेश के तहत अपने पैरेंट्स के सहमति पत्र लाये थे। शिक्षकों की उपस्थिति जरूर शत-प्रतिशत थी। हालांकि कुछ जगह पाली के मामले में गाइडलाइन के उलट स्थिति दिखी। कुछ स्कूल में कक्षा नौ-दस के बच्चे पहली पाली में ही बुला लिए गए थे तो कहीं एक ही पाली के लिए कक्षा 11-12 बच्चे बुलाए गए थे।

    यह भी पढ़ें–सरकारी वकील को यह क्या मिला

    जीजीआईसी में पहली पाली में कक्षा नौ तथा दस की बच्चियों को बुलाया गया था। प्रिंसिपल सुधा सिंह ने बताया कि गाइडलाइन के हिसाब से 50 फीसद बच्चियों को बुलाया गया। लगभग वह सभी आईं थीं। वहां कक्षा दस की छात्रा प्रियंका ने बताया कि स्कूल का खुलना अच्छा लग रहा है। ऑनलाइन पढ़ाई में कई तरह की दिक्कतें आ रही हैं। कभी फोन की अनुपलब्धता तो कभी नेटवर्क की समस्या। उधर आदर्श इंटर कॉलेज महुआबाग में कक्षा दस के छात्र दीपक ने भी कमोवेश यही बात कही। उनका कहना था कि ऑनलाइन पढ़ाई से संतुष्टि नहीं होती। वहां के प्रिंसिपल डॉ.पीएन सिंह ने बताया कि उनके यहां लगभग 25 फीसद बच्चे आए हैं जबकि 50 फीसद बच्चों को व्हाट्सअप ग्रुप के जरिये स्कूल खुलने की सूचना दी गई थी। डॉ.सिंह ने एक व्यवहारिक समस्या का भी जिक्र किया। कहे कि शिक्षकों की जरूरत भर संख्या नहीं है। उस दशा में गाइडलाइन के हिसाब में एक साथ उपस्थित बच्चों को पढ़ाने में दिक्कत आ रही है।

    उधर सीबीएसई के स्कूल एमजेआरपी के निदेशक राजेश कुशवाहा ने कहा कि गाइड लाइन के हिसाब से स्कूल खुला है लेकिन 30 फीसद बच्चे ही अपने पैरेंट्स के सहमति पत्र के साथ आए हैं। शाह फैज स्कूल के निदेशक डॉ.नदीम अदहमी ने बताया कि फिलहाल एक ही पाली में कक्षाओं का संचालन हो रहा है। एक दिन कक्षा 11 और दूसरे दिन कक्षा 12 के बच्चों को बुलाया जाएगा। इसी तरह अगले सप्ताह से एक-एक दिन के अंतराल पर कक्षा नौ व दस के बच्चों की पढ़ाई होगी। बताए कि पहले दिन 40 फीसद बच्चे अपने पैरेंट्स के सहमति पत्र के साथ उपस्थित हुए।

    संयुक्त निदेशक नोडल अधिकारी

    यूपी बोर्ड ने स्कूलों के खुलने के पहले दिन कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित कराने के लिए संयुक्त निदेशक वाराणसी अजय कुमार द्विवेदी को गाजीपुर भेजा है। उन्होंने कई स्कूलों का जायजा लिया और प्रधानाचार्यों को आवश्यक निर्देश दिए।

    …और डीआईओएस भी निकले

    डीआईओएस ओपी राय भी स्कूलों का जायजा लेने के लिए निकले। टाउन नेशनल इंटर कॉलेज सैदपुर, हनुमान सिंह इंटर कॉलेज देवकली वगैरह पर वह पहुंचे थे। बताए कि गाइडलाइन का पालन पर जोर है। पैरेंट्स की सहमति पत्र के साथ ही 50 फीसद छात्रों को बुलाया गया है। शेष बच्चों को दूसरे दिन आने की सूचना दी गई है। हालांकि पहले दिन छात्रों की उपस्थिति अपेक्षाकृत कम है। मालूम हो कि कोरोना संकट शुरू होने के साथ ही बीते मार्च के दूसरे सप्ताह में स्कूल बंद कर दिए गए थे।

     

    Previous articleई-प्रॉसीक्यूशन सिस्टम में गाजीपुर को मिला चौथा स्थान, शासकीय अधिवक्ता फौजदारी को प्रशस्ति पत्र
    Next articleआपराधिक घटनाओं पर सपाई गरम, डीएम को सौंपे ज्ञापन