आपराधिक घटनाओं पर सपाई गरम, डीएम को सौंपे ज्ञापन

    40
    0

    गाजीपुर। आपराधिक घटनाओं को लेकर सपाई काफी गुस्से में हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष के आह्वान पर सोमवार को राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा।

    उसके पूर्व समता भवन में मीडिया कर्मियों से बातचीत में जिलाध्यक्ष ने प्रदेश के अन्य जिलों में हुई आपराधिक घटनाओं सहित गाजीपुर  के बरेसर थाना क्षेत्र में लूट और हत्या के साथ ही सैदपुर थाने के देवचंदपुर हत्याकांड का मुद्दा उठाते हुए प्रदेश की योगी सरकार पर सवाल उठाए।

    यह भी पढ़ें–स्कूल खुले, कुछ ज्यादा ही खुश थीं बच्चियां

    जंगीपुर विधायक डॉ. वीरेंद्र यादव ने कहा कि आज भाजपा के राज में प्रदेश की बहन बेटियों की कोई सुरक्षा नहीं है। अपराधियों के समक्ष सरकार ने सरेंडर कर रखा है। आए दिन बच्चियां हैवानियत की शिकार हो रही है। बेटियों की चीख और चीत्कार से पूरा प्रदेश गूंज रहा है। आए दिन समाचार पत्रों की सुर्खियां खूनों से रंगी रहती हैं। प्रदेश की दरों दीवारें भी खून के छींटों से रंगी पड़ी हैं। जिला एवं पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में बलिया के दुर्जनपुर गांव में जयप्रकाश पाल की हत्या हो गई। ‌इसके बावजूद सरकार अपराधियों को सजा देने के बजाय उन्हें बचाने में व्यस्त है। भाजपा सरकार का नारी सुरक्षा का दावा झूठा और फरेब भरा है। योगी सरकार कानून-व्यवस्था दुरुस्त रखने में विफल साबित हुई है। इस दशा में सरकार को रहने का कोई हक नहीं रह गया है। पुलिस थानों में अब न्याय नहीं दमन हो रहा है। थानों पर धन उगाही के अड्डे बन गए हैं। आमजन थाने में जाने में घबड़ाता है। हत्या को आत्महत्या में बदलने में प्रदेश की पुलिस को महारत हासिल हो गई है।

    ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से पूर्व सांसद द्वय जगदीश कुशवाहा तथा राधामोहन सिंह, पूर्व विधायक विजय कुमार, पूर्व जिलाध्यक्ष राजेश कुशवाहा, पूर्व चेयरमैन सहकारी बैंक रामधारी यादव, राजेश राय, सुधीर यादव, सदानंद यादव, गोपाल यादव, अरुण कुमार श्रीवास्त, तहसीन अहमद, निजामुद्दीन खां, कन्हैयालाल विश्वकर्मा, अशोक बिंद, रामवचन यादव, दिनेश यादव, सत्येंद्र यादव सत्या, राजेंद्र यादव, कमलेश यादव भानु, जैहिंद यादव, योगेंद्र राय, वृजदेव खरवार, कमलेश यादव, गरीब राम, वीभा पाल, रीना यादव, रामयश यादव, राजीव यादव, अमित सिंह लालू, विनोद पाल, आमिर अली, सदानंद कनौजिया, आलोक राम, अभिनव सिंह, सुशील जायसवाल, रामाधार यादव, चंदन यादव, राजेश गोंड, आजाद राय, ताहिर हुसैन, सत्यनारायन चौहान, राकेश यादव, कृष्णानंद यादव, दिनेश यादव, राहुल सिंह, नन्हें, आजाद कनौजिया, सिकन्दर कनौजिया, रामाशीष यादव आदि थे।

    Previous articleखुल गए स्कूल, कुछ ज्यादा ही उत्साहित दिखीं बच्चियां
    Next articleदेवचंदपुर हत्याकांडः तीन असलहे भी लूट ले गया था सन्नी गैंग