देवचंदपुर हत्याकांडः करंडा क्षेत्र के भी थे शूटर शामिल!

    34
    0

    गाजीपुर। सैदपुर थाने के बहुचर्चित त्रिभुवन सिंह हत्याकांड के मुख्य अभियुक्त कर्मवीर सिंह उर्फ सन्नी और उसके शॉर्प शूटर ढोलक सिंह का कोई सुराग नहीं मिला है। उन्हें गिरफ्त में लेने के लिए पुलिस का दबिश डालने का सिलसिला लगातार जारी है। साथ ही उन पर 25-25  हजार रुपये का ईनाम भी घोषित कर दिया गया है।

    इस बीच घटना स्थल के सीसीटीवी से पुलिस को यह पुख्ता सबूत  मिले हैं कि गोलीबारी में सन्नी के साथ करंडा इलाके के भी कुछ चर्चित शूटर थे। उनमें गोशंदेपुर के धनजी सिंह का नाम प्रमुखता से लिया जा रहा है। धनजी सहित उस गांव के कुल चार लोग शन्नी के साथ थे। इनके अलावा एक करंडा का और नारीपंचदेवरा के दो दीपक सिंह तथा त्रिपुरारी सिंह को भी पुलिस तलाश रही है। खबर है कि पुलिस इनके घर सहित अन्य संभावित ठिकानों पर दबिश डाल रही है। दबाव बनाने के लिए उनके परिवारीजनों और रिश्तेदारों को अलग-अलग थानों पर बैठाया गया है। गोशंदेपुर का धनजी सिंह पहले से ही कुख्यात है। पिछले साल 24 मई की रात सपा के जिला पंचायत सदस्य विजय यादव पप्पू की उनके दरवाजे पर ही गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उसमें धनजी सिंह को नामजद किया गया था। अब बताया जा रहा है कि देवचंदपुर में त्रिभुवन सिंह के हत्यास्थल पर सीसीटीवी कैमरे में न सिर्फ धनजी का चेहरा कैद हुआ बल्कि उसकी काले रंग की स्कार्पियो भी उसमें दिख रही है।

    यह भी पढें–बेखौफ चोर! अब बैंक का तोड़े ताला

    मालूम हो कि बीते बुधवार की रात में सैदपुर थाने के देवचंदपुर में पेट्रोल पंप पर सन्नी गैंग ने धावा बोलकर उसी गांव के त्रिभुवन सिंह (55) की हत्या कर दी थी, जबकि उनके चचेरे भाई शिवमूरत सिंह (43) को जख्मी कर दिया था। उस घटना के चश्मदीद पेट्रोल पंप मालिक के भाई अजय पांडेय ने सन्नी सिंह तथा उसके शॉर्प शूटर ढोलक सिंह को नामजद और दस अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। अज्ञातों की पहचान के लिए पेट्रोल पंप के सीसीटीवी कैमरा को खंगाली। उसमें कुछ चेहरे एकदम साफ मिले। सन्नी सिंह तथा ढोलक सिंह देवचंदपुर गांव के रहने वाले हैं। पुलिस अभियुक्तों पर कुछ भी रहम करने के मूड में नहीं दिख रही है। गांव में सन्नी के अवैध निर्माण को ढहाने के बाद अब खबर है कि ढोलक सिंह के भी घर के कुछ हिस्से को ढहाया गया है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

    विश्वनाथ यादव बने सैदपुर के अतिरिक्त प्रभारी निरीक्षक

    गाजीपुर। पुलिस कप्तान डॉ.ओमप्रकाश सिंह ने सैदपुर कोतवाली में अतिरिक्त प्रभारी बनाकर इंस्पेक्टर विश्वनाथ यादव को भेजा है। वह जिला मुख्यालय पर विवेचना सेल में थे। उन्होंने तत्काल प्रभाव से अपना कार्यभार संभाल लिया है और वहां के मोस्ट वांटेड कुख्यात शन्नी और उसके गैंग की धरपकड़ में जुट गए हैं।

    Previous articleयूबीआई की कुसुम्ही कलॉ शाखा में चोरी की कोशिश
    Next articleई-प्रॉसीक्यूशन सिस्टम में गाजीपुर को मिला चौथा स्थान, शासकीय अधिवक्ता फौजदारी को प्रशस्ति पत्र