ऐशोआराम के संसाधनों से सुसज्जित भव्य होटल द ग्रैंड पैलेस उद्घाटित

    35
    0

    गाजीपुर। शहर को रविवार को एक भव्य सौगात मिली। ऐशोआराम के लगभग सारे अत्याधुनिक संसाधनों से सुसज्जित होटल द ग्रैंड पैलेस का उद्घाटन हुआ। एडीएम राजेश कुमार ने फीता काटकर इसकी औपचारिकता पूरी की।

    इस मौके पर होटल के मालिक विनोद राय ने कहा-महानगरों से आने वाले साधन संपन्न लोगों को गाजीपुर में होटल के लग्जरी रूम, बेहतर रेस्टोरेंट की कमी की शिकायत रहती थी। यहां तक कि वैसे लोग गाजीपुर में जरूरत के बावजूद ठहरने के लिए वाराणसी के होटलों को बेहतर मानते थे। गाजीपुर का वासी होने के नाते अपने शहर के लिए इस तरह की हिकारत भरी बातें हमेशा दिल को कचोटती थीं। मैं शुरू में ही यह बातें सुन संकल्प ले लिया था कि मुझे मौका मिला तो अपने शहर की यह कमी जरूर पूरी करूंगा और आज होटल द ग्रैंड पैलेस शहर में आने वालों की खिदमत के लिए पूरी तरह तैयार है।

    यह भी पढ़ें–कोर्ट तल्ख, सीओ सिटी तलब

    श्री राय ने दावा किया कि यह होटल तारांकित होटलों की श्रेणी में भले ग्रैंड पैलेस अभी नहीं आया है लेकिन किसी भी मामले में फोर स्टार होटल से कम सुविधाएं नहीं हैं। चार मंजिले इस होटल में कुल 28 एसी कमरे हैं। एक बड़ा वैंकेट हॉल व एक कॉफ्रेंस हॉल की सुविधा उपलब्ध है जो फैमिली और ऑफिसियल इवेंट के लिए उपयुक्त हैं। इनके अलावा एक हजार संख्या की क्षमता का लॉन है। होटल में बार की सुविधा भी प्रस्तावित है लेकिन इसकी शुरुआत जनवरी से होगी। एक रेस्तंरा है। उसमें वेज, नॉन वेज व्यंजन परोसे जाएंगे। मेनू में कमोवेश सभी भारतीय व्यंजन शामिल रहेंगे। रेट भी वाजिब ही रखा गया है। ग्राहकों को बेहतर सर्विस पर भी होटल प्रबंधन का पूरा जोर रहेगा।

    होटल प्रबंधन ने जनसुरक्षा के पुख्ता इंतजामों पर भी फोकस किया है। खासकर अग्नि को लेकर। इसके लिए अत्याधुनिक सिस्टम हैं। जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे हैं। वाहन पार्किंग की समुचित और सुरक्षित जगह मुहैया कराई गई है। लंका चुंगी स्थित होटल द ग्रैंड पैलेस गाजीपुर-वाराणसी हाइवे से बिल्कुल सटा है। लंका बस स्टैंड, सीटी रेलवे स्टेशन, रोडवेज बस अड्डे से भी इसकी दूरी महज कुछ सौ मीटर है।

    उद्घाटन समारोह में शहर के गणमान्यजन के अलावा प्रशासनिक अधिकारियों सहित जनप्रतिनिधि, राजनीतिक लोग उपस्थित थे। उनमें पूर्व मंत्री ओम प्रकाश सिंह, विधायक डॉ.वीरेंद्र यादव, रमाशंकर सिंह काटू, रामधारी यादव, कृष्णबिहारी राय, राजेश राय पप्पू, मुकेश राय, घूरा सिंह, सिद्धार्थ राय आदि थे।

    Previous articleअफसरों पर कोर्ट तल्ख, सीओ सिटी और नायब तहसीलदार तलब
    Next articleविशाल मेगा मार्टः एक बार तो जरूर पहुंचे जनाब! घर के सारे आइटम हैं सुलभ