फंदे पर लटक रहा था विवाहिता का शव, दहेज हत्या का आरोप

    32
    0

    गाजीपुर। मायके से ससुराल लौटने के दो सप्ताह बाद ही विवाहिता उषा चौहान (26) फांसी लगा ली। घटना शुक्रवार की सुबह करीब दस बजे दुल्लहपुर थाने के बड़ामियना (जलालाबाद) गांव में हुई। हालांकि उषा के मायके वाले इसे हत्या का मामला मान रहे हैं और इस सिलसिले में उसके भाई अशोक चौहान ने पति, सास, ननद सहित पांच लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है।

    यह भी पढ़ें–तुसी ग्रेट हो डॉ.दानिश

    उषा चौहान का शव उसके कमरे में छत के हुक के सहारे दुपट्टे के फंदे से लटका मिला। उसके कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। उषा का मायका मऊ के दोहरीघाट कोतवाली स्थित लामी गांव में था। उसकी शादी दो साल पहले बड़ामियना के राजेश चौहान से हुई थी। उसके भाई का आरोप है कि दहेज के लिए उषा को ससुराल में प्रताड़ित किया जाता था। दो सप्ताह पूर्व उषा अपने मायके से ससुराल आई थी। दो दिन पूर्व उसने अपने मायके फोन कर रुपये की मांग की थी। उसके भाई ने गुरुवार को 20 हजार रुपये उसके पति राजेश के खाते में भेजा था। उधर उषा के पति ने बताया कि रात तक सब कुछ सामान्य था। सुबह उषा खाना बनाई। वह खाकर अपने काम पर चला गया था। एसओ दुल्लहपुर जितेंद्र बहादुर सिंह ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई होगी।

    Previous articleवाकई! कोरोना के इस संकट में अपने सपूत डॉ.दानिश खां पर नाज है गाजीपुर को
    Next articleकांस्टेबल ने लगाई फांसी, कमरे की छत से फंदे पर लटकता मिला सूर्यसेन का शव