एसओ बिरनो के बिगड़े बोल, उल्टे फरियादी को ही फोन पर हड़काया

    48
    0

    गाजीपुर। एक ओर योगी सरकार थानों पर फरियादियों संग सम्मानजनक व्यवहार करने की थानेदारों को बार-बार हिदायत देती रहती है। वहीं दूसरी ओर थानेदार फरियादियों को सुनना तो दूर उल्टे उन्हें ही अपमानित करने से बाज नहीं आ रहे हैं। एक वाकया बिरनो थाने का है।

    क्षेत्र के नसरतपुर गांव के युवक राजेश कुमार को पांडेयपुर राधे निवासी सच्चिदानंद राजभर ने बिजली विभाग में संविदा पर नौकरी दिलाने का झांसा दिया। इसके एवज में बतौर रिश्वत ढाई लाख रुपये की उसने मांग की। राजेश उसके खाते में वह रकम ट्रांसफार्मर कर दिया। महीनों गुजर गए। काम नहीं हुआ। तब राजेश ने अपने रुपये लौटाने को कहा। कई दिनों बाद वह मात्र 38 हजार रुपये लौटाया। उसके बाद वह परिवार समेत लापता हो गया। आखिर में लाचार होकर राजेश मंगलवार को बिरनो थाने पहुंच कर सच्चिदानंद राजभर के विरुद्ध तहरीर दी। तब एसओ बिरनो शशिधर चौधरी राजेश को कहे कि वह खुद सच्चिदानंद को ढूंढे और बताए। तब उसको पकड़ा जाएगा।

    यह भी पढ़ें–कुख्यात सन्नी ने फिर मचाई सनसनी

    बुधवार को राजेश को पता चला कि सच्चिदानंद का भाई अपने घर लौटा है। राजेश ने तत्काल इसकी सूचना एसओ बिरनो शशिधर चौधरी को फोन पर दी। राजेश की बात सुनते ही एसओ महोदय एकदम से बिफर गए। तल्ख जुबान में कहे कि वह उसके नौकर नहीं हैं। फोन रखने की बात कह वह खुद ही फोन काट दिए।

    Previous articleमुख्तार के होटल गजल को ढहाने के आदेश पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक
    Next articleरुपये लूट भाग रहे बदमाशों ने बीच राह रुके युवक की हत्या कर लूट ली बाइक