जिला महिला अस्पताल की बदहाली पर खफा छात्र नेता, सौंपे डीएम को ज्ञापन

    39
    0

    गाजीपुर। जिला महिला अस्पताल की बदहाल दशा से पीजी कॉलेज के छात्र बेहद खफा हैं और इसको लेकर निर्णायक आंदोलन के मूड में हैं। इस मुद्दे को लेकर सोमवार को छात्रसंघ के पूर्व उपाध्यक्ष दीपक उपाध्याय की अगुवाई में उनका प्रतिनिधिमंडल सोमवार को डीएम को संबोधित नौ सूत्री ज्ञापन सौंपा।

    इस मौके पर श्री उपाध्याय ने बताया कि महिला अस्पताल में डिलीवरी के नाम पर धन वसूली होती है। जेनेरिक दवा की जगह कमीशन के लिए ब्रांडेड व हॉस्पिटल के बाहर की दवा की पर्ची लिखी जाती है। अस्पताल के औषधि भंडार में जरूरी दवा, इंजेक्शन तक का अभाव है। अस्पताल परिसर में शौचालय एवं मूत्रालय गंदे पड़े हैं। यहां तक कि वार्डों के शौचालयों में दरवाजे भी नहीं हैं। स्वच्छ पेयजल के संयंत्र खराब हो चुके हैं। बेड व टेबल की समुचित व्यवस्था नहीं है।

    यह भी पढ़ें–पंचायत चुनाव पर मौर्यवंशियों की नजर

    श्री उपाध्याय ने कहा कि एक ओर तो शासन-प्रशासन स्वास्थ्य सुविधा एवं चिकित्सा सेवा में अपेक्षित सुधार का दावा करता है लेकिन जिला महिला अस्पताल की बदहाली उस दावे की हकीकत बयां करती है।

    प्रतिनिधिमंडल में पूर्व पुस्तकालय मंत्री मोहम्मद परवेज, आकाश तिवारी, प्रवीण पांडेय, जितेंद्र राय, दीपक कुमार, धर्मेंद्र यादव, शैलेश यादव, सुनील कुमार, अजीत यादव, चंद्रेश दूबे, अजय यादव आदि थे। डीएम एमपी सिंह की नामौजदगी में प्रतिनिधिमंडल ने एएसडीएम विक्रम सिंह को अपना ज्ञापन सौंपा।

    मालूम हो कि दीपक उपाध्याय की रक्तदाता के रूप में भी बड़ी पहचान है। जरूरतमंदों को रक्तदान के लिए वह खुद और उनकी टीम के लोग बराबर उपलब्ध रहते हैं।

    Previous articleपंचायत चुनाव में बिरादरी के आपसी टकराव को रोकने की कोशिश करेगी कुशवाहा महासभा
    Next articleफांसी के फंदे पर लटकती मिली विवाहिता