नौकरी मिलते ही तोड़ा प्यार के कसमे वादे और रचा ली शादी कहीं और

    30
    0

    गाजीपुर। मुहब्बत, कसमे वादे, लालच फिर जिस्मानी रिश्ते। उसके बाद बेवफाई, धोखा और दुत्तकार। यह किस्सा है सैदपुर क्षेत्र के गांव तरांव की रहने वाली एक युवती का।

    यह भी पढ़ें—कच्ची उम्र की मुहब्बत

    युवती का प्रेमी मनोज कुमार राजभर उसी क्षेत्र के वाजिदपुर गांव का रहने वाला है जबकि युवती अनुसूचित जाति की है। युवती के मुताबिक उसकी प्रेम कहानी साल 2012 में शुरू हुई थी। तब दोनों हरीवंशी द्वारिका कॉलेज ऑफ एजुकेशन दुर्खुशी थाना मरदह में बीटीसी की पढाई कर रहे थे। प्रेम परवान चढ़ने के बाद वह प्रेमी को अपना सबकुछ दे बैठी। बदले में प्रेमी उसे अच्छे ख्वाब दिखाता। शादी कर गृहस्थी बसाने के वादे करता। यहां तक कि जब तब अपनी जरूरत बता उससे रुपये भी ऐंठते रहता। इस तरह करीब पौने तीन लाख रुपये वह ऐंठ लिया। उसी बीच प्रेमिका गर्भवती हुई तो डरा धमका कर उसने गर्भपात करवा दिया। साल 2018 में मनोज बलरामपुर जिले के पंचपेड़वा ब्लाक के परिषदीय प्राथमिक विद्यालय बरगदही में शिक्षक नियुक्त हो गया। उसके बाद भी वह फोन के जरिये अपना मुहब्बत-ए-इजहार जारी रखा। युवती जब शादी की चर्चा करती तब वह कोई बहाना कर उस बात को टाल देता और कुछ ही दिन बाद वह शादी से साफ मुकर गया।

    अपने प्रेमी की इस बेवफाई से युवती का दिल आहत हो गया। उसी बीच एक दिन सूचना उसके दिल पर बज्रपात बन कर आई कि मनोज ने 16 जून 2020 को शादियाबाद थाना क्षेत्र के खुटहन गांव की सुनिता राजभर पुत्री हरी राजभर से शादी भी रचा ली है। उसके बाद भी उसका दिल नहीं माना और अपने रिश्तेदारों को लेकर प्रेमी के घर पहुंच गई। जहां उसे दुत्तकार मिली। बेबस और मायूस युवती अब इंसाफ के लिए दर-दर भटक रही है। इसी क्रम में वह बीते 15 सितंबर को बिरनो थाने में फिर तहरीर दी। इस संबंध में एसओ बिरनो शशिचंद से संपर्क किया गया तो उन्होंने क्षेत्र में भ्रमण का हवाला देते हुए कुछ भी बताने में असमर्थता जताई।

    Previous articleपुलिस के हत्थे चढ़े दिलफेंक गुरुजी
    Next articleखुशखबरी! भारी वाहनों के लिए 28 से खुल जाएगा हमीद पुल