दोस्त की बेटी का छह माह तक लूटता रहा आबरू, गर्भ ठहरने के बाद पीड़िता खोली मुंह

    33
    0

    गाजीपुर। सामाजिक रिस्तों के ताने-बाने में दोस्त की बेटी अपनी बेटी के तुल्य मानी जाती है लेकिन एक हैवान ने इस पवित्र और स्नेही रिश्ते की मर्यादा को तार-तार कर दिया। दोस्त की नाबालिक बेटी को प्रेम जाल में फांसा और शादी का झांसा देकर छह माह तक उसकी अस्मत लूटता रहा। गर्भ ठहरने के बाद जब पीड़िता मुंह खोली तब यह हैवानियत सामने आई।

    यह भी पढ़ें—डीएम, एसपी पहुंचे, नदारद थे फरियादी

    यह कहानी कासिमाबाद थाना क्षेत्र की है। पीड़िता के पिता की तहरीर पर कासिमाबाद पुलिस आरोपित को गिरफ्तार कर ली है। पीड़िता के पिता के अनुसार आरोपित उसका दोस्त रहा है। वह तांत्रिक भी है। तंत्र मंत्र के बहाने प्राय: उसके घर भी आता जाता रहा है। उसी बीच उसने बेटी को अपने जाल में फंसा कर उसकी आबरू से खेलने लगा था। चार माह का गर्भ ठहरने के बाद बेटी आपबीती सुनाई। उसके बाद परिवार को इसकी जानकारी हुई।

    पीड़िता की मां का पहले ही निधन हो चुका है। आरोपित पीड़िता से दोगुने उम्र का है और चार संतानों का बाप है। वह बहादुरगंज कस्बे का रहने वाला है।

    सीओ कासिमाबाद महिपाल पाठक ने बताया कि आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोप की पुष्टि के लिए पीड़िता की मेडिकल जांच कराई जाएगी।

    Previous articleजौनपुर में बाप-बेटे को गोली मारकर भागे युवक के गाजीपुर में छिपने की आशंका
    Next articleअब मुख्तार के होटल ‘गज़ल’ में प्रशासन को मिला फर्जीवाड़े का एंगल