पुलिस की लाठियां खाकर भी डटे रहे और ज्ञापन देकर ही लौटे युवा सपाई

    35
    0

    गाजीपुर। जिला मुख्यालय पर सोमवार का दिन युवा सपाइयों के नाम रहा। वह गरजते रहे और पुलिस कर्मी हांफते रहे। उन्हें खदेड़ने के लिए पुलिस कर्मी लाठी बरसाते रहे और वह डटे रहे। यह सिलसिला करीब आधा घंटा तक चला। इसके चलते मौके पर भगदड़, अफरातफरी की स्थिति बनी रही।

    यह भी पढ़ें—नवोदय विद्यालय में आवेदन शुरू

    मौका था बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, किसानों की बदहाली, महंगाई, बढ़ते अपराध आदि मुद्दों को लेकर डीएम को ज्ञापन देने का। प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर सपा की यूथ फ्रंटल इकाइयों के नेता, कार्यकर्ता सुबह पार्टी कार्यालय समता भवन में एकत्र हुए। उनके तेवर का अंदाजा प्रशासन को पहले ही मिल चुका था। भारी संख्या में पुलिस बल लगा दिया गया था। रणनीति थी कि कार्यकर्ताओं को समता भवन के पास ही रोक दिया जाए लेकिन कार्यकर्ताओं की भीड़ कार्यालय  की छत से नीचे आई और डीएम कार्यालय की ओर बढ़ चली। पुलिस बल हरकत में आया। लाठियां तन गईं। कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए घेरेबंदी शुरू हो गई। बावजूद कार्यकर्ता पुलिस कर्मियों को धकियाते पुलिस कार्यालय तक पहुंच गए। वहां पुलिस अधिकारियों ने ज्ञापन देने के लिए महज पांचजनों को डीएम कार्यालय तक जाने की बात कही मगर सारे कार्यकर्ता वहां तक जाने पर अड़ गए। तब पुलिस बल ने लाठियां बरसाकर कार्यकर्ताओं की भीड़ को तितर-बितर करने की कोशिश की। फिर भी कई कार्यकर्ता मौके से हटे नहीं और डीएम कार्यालय गेट के सामने सड़क पर बैठ कर प्रशासन विरोधी नारेबाजी शुरू कर दिए। यह देख पुलिस अधिकारियों के हड़बड़ाहट बढ़ने लगी। कार्यकर्ताओं को मौके से उठाने के लिए मान मनौवल शुरू हो गया। आखिर में डीएम एमपी सिंह की नामौजूदगी में एसडीएम सदर प्रभास कुमार मौके पर पहुंचे और ज्ञापन लिए। उसके बाद ही कार्यकर्ता वहां से हटे। पुलिस की लाठियों से कई कार्यकर्ताओं को चोटें आईं।

    कार्यकर्ताओं की अगुवाई लोहिया वाहिनी के जिलाध्यक्ष अमित ठाकुर, समाजवादी युवजन सभा के जिलाध्यक्ष सदानंद कनौजिया, यूथ ब्रिगेड के जिलाध्यक्ष विनोद पाल और छात्रसभा के जिलाध्यक्ष अमित सिंह ठाकुर कर रहे थे। इनके अलावा सपा जिलाध्यक्ष रामधारी यादव, राजेश कुशवाहा, अरुण कुमार श्रीवास्तव, जिला पंचायत सदस्य सत्येंद्र यादव सत्या, डॉ. समीर सिंह, अभिषेक यादव, रिशु यादव, संदीप यादव, तहसीम अहमद, कन्हैया लाल विश्वकर्मा, आमिर अली, दिनेश आदव, अनिल कुमार यादव, अहमद जमाल, आजाद राय, राजेश गोंड, कृष्णा मौर्य, मोहित यादव, विपुल, राहुल सिंह, शनी शुक्ल, रितेश गौतम, सोनू यादव, नवीन चौहान, संदीप यादव सत्या, विरेंद्र यादव, शिव यादव, अभिनव सिंह, रौशन यादव आदि भी थे।

    पूरे घटनाक्रम की फोटोग्राफी

    नि:संदेह प्रशासन युवा सपाइयों के इस कार्यक्रम को लेकर पहले से ही अपनी तैयारी में था। डंडधर पुलिस कर्मियों की मौके पर तैनाती के अलावा बकायदे फोटोग्राफी का भी इंतजाम था। एक सवाल पर शहर कोतवाल दिलीप सिंह ने कहा कि ढिठाई करने वाले कार्यकर्ताओं पर किसी तरह की कार्रवाई ऊपर के अधिकारियों के निर्देश पर होगी। यह जरूर है कि पूरे घटनाक्रम में शामिल कार्यकर्ताओं के चेहरे कैमरे में कैद कर लिए गए हैं।

    Previous articleनवोदय विद्यालय: कक्षा छह में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू
    Next articleमिर्च, टमाटर, मटर और केला के किसानों को भी मिलेगी क्षतिपूर्ति