इनामिया सहित दो बदमाश पकड़े गए, लूट की बाइक और दो असलहे बरामद

    30
    0

    गाजीपुर। दो बदमाश मंगलवार की शाम चार बजे बरेसर पुलिस के हत्थे चढ़ गए। इनमें 25 हजार का इनामिया अभिषेक यादव उर्फ मंगला है। यह कासिमाबाद थाने के राजापुर कला का रहने वाला है। जबकि दूसरा निखिल यादव उर्फ शेरू बरेसर थाने के ही परमूपुर का निवासी है। इनके कब्जे से लूट की बाइक के अलावा मय कारतूस देशी रिवाल्वर व पिस्तौल और एक किलो 200 ग्राम गांजा बरामद हुआ।

    यह भी पढ़ें—‘ट्रेनों का परिचालन फिर शुरू हो’

    पुलिस कप्तान डॉ. ओमप्रकाश सिंह ने बुधवार की शाम दो बजे पुलिस लाइन के अपने कक्ष में उन दोनों को मीडिया के सामने पेश किया। बताए कि दोनों अपने विरुद्ध पुलिस से मुखबिरी के शक में संतलाल वर्मा निवासी कटया थाना कासिमाबाद की हत्या करने जा रहे थे। उसके पूर्व उलका प्लान अपने पास का गांजा बेचने का था। उसी बीच उनके इस मूवमेंट की सूचना मुखबिर से मिली। फिर एसओ बरेसर संजय कुमार अपनी टीम के साथ अलावलपुर पहुंच गए। कुछ ही देर में वह दोनों जहूराबाद से आते दिखे। उन्हें रोका जाता कि वह खुद अपनी बाइक मोड़ कर भागना चाहे। हड़बड़ी में असंतुलित होकर उनकी बाइक पलट गई। उसके बाद वह पैदल भागने लगे तब उनका पीछा किया गया। इस क्रम में बदमाश पुलिस टीम पर फायर किए। सौभाग्य से कोई हताहत नहीं हुआ और किसी तरह दोनों को दबोच लिया गया। पूछताछ में दोनों यह भी कबूले कि बीते जुलाई में न्यायीपुर के ग्राम प्रधान भरत भागी पर फायरिंग और उनके समर्थक गंगा शर्मा के गले पर उस्तरे से हमले की घटना को उन्हीं लोगों ने अंजाम दिया था।

    पुलिस कप्तान ने बताया कि अभिषेक यादव के खिलाफ गाजीपुर सहित मऊ में विभिन्न संगीन धाराओं में कुल 14 और निखिल पर कासिमाबाद तथा बरेसर थाने में पहले से तीन मामले दर्ज रहें हैं। अभिषेक का नाम गाजीपुर के टॉप टेन में दर्ज है जबकि निखिल बरेसर थाने का टॉप टेन बदमाश है।

    Previous articleवाराणसी-गोरखपुर रेल खंड पर ट्रेनों के नियमित परिचालन की उठी मांग
    Next articleमहिला चोर अपने धंधे में दामाद को भी बनाई हिस्सेदार, अब दोनों चढ़े पुलिस के हत्थेे