सड़कों पर घायल पड़े लावारिश बेजुबानों की सुधि लेगी रैपिड रिस्पॉंस टीम

    33
    0

    गाजीपुर। सड़कों पर घायल पड़े लावारिश पशुओं को देख अब आपका कलेजा नहीं फटेगा। उस बेजुबान की फौरन मदद आप कर पाएंगें। इसके लिए बस आपको संबधित तहसील मुख्यालय के पशु चिकित्साधिकारी को फोन करना होगा। उसके बाद रैपिड रिस्पॉंस टीम मौके पर पहुंचेगी और घायल पशु का समुचित इलाज शुरू हो जाएगा।

    प्रदेश की योगी सरकार ने यह व्यवस्था शुरू की है। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी सुनिल कुमार सिंह ने बताया कि रैपिड रिस्पॉंस टीम का मौके पर पहुंचने की अधिकतम समय सिमा भी एक घंटे की तय है। डॉ. सिंह ने तहसीलवार पशु चिकित्साधिकारियों के फोन नंबर भी बताया। उनके मुताबिक सदर 9838504002, जमानियां 9450742828, जखनियां 9450631594, मुहम्मदाबाद 9450737573, कासिमाबाद 9451178223, सेवराईं 7309648892 और सैदपुर तहसील के पशु चिकित्साधिकारी का नंबर 7071758893 है।

    यह भी पढ़ें—क्या विधायक संगीता बलवंत की चमक पड़ी फिकी

    मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने बताया कि यह सेवा इस साल जनवरी में शुरू हुई थी। पहले इसके लिए क्विक रिस्पॉंस टीम गठित की गई थी लेकिन इसे और गति देने के लिए उसकी जगह मई में रैपिड रिस्पॉंस टीम गठित की गई। डॉ. सिंह ने बताया कि अबतक कुल 170 लावारिश पशुओं का रेस्क्यू किया जा चुका है। इसी बीच विभाग ने पशुओं के टीकाकरण अभियान भी शुरू कर दिया है।

    इसका उद्घाटन मंगलवार को डीएम ओमप्रकाश आर्य ने किया। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत गाजीपुर सहित प्रदेश के 28 जिलों में यह अभियान शुरू हुआ है। अभियान में खुरपका, मुंहपका रोग पर नियंत्रण के लिए गाजीपुर में कुल साढ़े आठ लाख से अधिक पशुओं को टीके लगेंगे। यह अभियान 17 सितंबर तक चलेगा। उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि भाजपा संगठन के प्रदेश मंत्री रामतेज पांडेय थे।

    Previous articleविधायक संगीता बलवंत की अपनी बिरादरी में चमक पड़ी फिकी!
    Next articleभाजपाइयों को सरेआम अपमानित करने की सजा मात्र तबादला!