मणिमंजरी के घर कनुवान पहुंचे पूर्व मंत्री अजय राय

    35
    0

    गाजीपुर। बलिया में मनियर नगर पंचायत की ईओ मणिमंजरी राय की मौत को विरोधी दलों ने मुद्दा बना दिया है। कांग्रेस इसमे लीड लेने की कोशिश में है। पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के ट्विट के बाद शुक्रवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री अजय राय मणिमंजरी के पैतृक घर  भांवरकोल क्षेत्र स्थित कनुवान सदलबल पहुंचे।

    यह भी पढ़ें–लूटते थे बाइक, धराए ऐसे

    अजय राय मणिमंजरी के शोक संतप्त परिवार से मिले और अपनी संवेदना जताए। उन्होंने मणिमंजरी  के दादा और पिता जयठाकुर राय से भी पूरे घटनाक्रम की जानकारी लिए। उन लोगों ने दोहराया कि मणिमंजरी की मौत आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या का मामला है। उन लोगों ने अपनी बात को पुख़्ता करने के लिए घटना स्थल के परिस्थिति जन्य साक्ष्यों का हवाला दिया।

    पीड़ित परिवार की व्यथा सुन अजय राय ने भरोसा दिया कि इस दुखद घड़ी में कांग्रेस उनके साथ है। मौके पर मौजुद मीडिया कर्मियों से बातचित में पूर्व मंत्री ने कहा कि मणिमंजरी की मौत के लिए सत्ताधारी भाजपा के लोग शामिल हैं। यही वजह है कि बलिया पुलिस मामले को आत्महत्या करार रफादफा करने की कवायद में जुटी है। लिहाजा इस मामले की सीबीआई जांच जरुरी है। अजय राय के साथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुनिल कुमार भी थे। मालूम हो कि मणिमंजरी राय (30) की लाश बलिया जिला मुख्यालय स्थित आवास विकास कॉलोनी के उनके आवास के कमरे की छत के पंखे से बीते छह जुलाई की रात लटकती मिली थी। बलिया पुलिस ने मौके पर सुसाइड नोट मिलने की बात कही थी। बाद में मणिमंजरी के बड़े भाई विजयकांत ने बलिया शहर कोतवाली में मनियर नगर पंचायत के चेयरमैन भीम गुप्त, पूर्व ईओ, टैक्स लिपिक वगैरह पर आत्महत्या के लिए दबाव देने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई।

    Previous articleपुलिस के हत्थे चढ़े दो बाइक लूटेरे, तमंचा व बाइक बरामद
    Next articleमुख्तार पर और एक चोट, दो रिश्तेदारों सहित तीन के असलहे जब्त, लाइसेंस निलंबित