जिपंं सदस्य ने रंगदारी में शराब न देने पर सेल्समैन की कराई थी हत्या

    34
    0

    जामानियां (गाजीपुर)। शराब दुकान के सेल्समैन कन्हैया सिंह (25) की हत्या रंगदारी में शराब न देने के चलते हुई थी। हत्या की पटकथा दबंग जिलापंचायत सदस्य रामप्रवेश बिंद ने लिखी थी। उसे अंजाम देने के लिए उसने अपने दो साथियों की मदद ली। वारदात स्थल पर वह खुद मौजूद था। गिरफ्तारी के बाद यह सब रामप्रवेश बिंद ने खुद कबूला। गिरफ्तारी सोमवार की सुबह करीब सवा छह बजे फुल्ली नहर के पास हुई। उसने अपने दोनों साथियों का भी नाम पता बताया। पुलिस उन दोनों के संभावित ठिकानों पर दबिश डाली लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला। वह इसी इलाके के रहने वाले हैं। पूछताछ में रामप्रवेश ने बताया कि सेल्समैन से वह रंगदारी में शराब की कई बार डिमांड किया लेकिन वह कहा नहीं माना। तब उसने सेल्समैन को सबक सिखाने का फैसला किया। इसके लिए उसने अपने उन दोनों साथियों संग योजना बनाई। योजना के मुताबिक गुरुवार की सुबह करीब छह बजे वह तीनों दिलदारनगर मार्ग स्थित सराय मुराद अली चट्टी पर देशी शराब की दुकान के पास पहुंचे। वह खुद अपनी बइक से था जबकि उसके दोनों साथी दूसरी बाइक पर थे।

    वह दोनों साथी अपनी बाइक से उतर कर दुकान के सामने बैठे कन्हैया को पीछे से दबोच लिए उसके बाद उसका गला रेत कर सभी भाग निकले। कोतवाल राजीव कुमार सिंह ने बताया कि रामप्रवेश बिंद के कब्जे से बाइक बरामद हुई है। उस पर रजिस्ट्रेशन नंबर अंकित नहीं था। रामप्रवेश बिंद के खिलाफ पहले से ही संगीन धाराओं में कुल दस मामले दर्ज हैं। वह इसी इलाके के भैदपुर गांव का रहने वाला है। मृत सेल्समैन बिहार के समस्तीपुर जिले के विद्यापति नगर थानान्तर्गत बमौरा का रहने वाला था।

    यह भी पढ़ें-यह जुर्रत! शराब कंपनी को लूटे

    Previous articleगृह कलह से क्षुब्ध युवक ट्रेन से कट मरा
    Next articleपागल सियार ने गांव में मचाया कोहराम, दो महिलाओं समेत 19 को काटा