प्रशासन लापरवाह, कोरोना का खतरा बढ़ा

    47
    0

    कासिमाबाद। तहसील क्षेत्र में कोरोना वायरस से ग्रसित मरीजों की संख्या जैसे-जैसे बढ़ रही है, वैसे ही प्रशासन की शिथिलता बढ़ती जा रही है। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस की ड्यूटी न होने से हॉटस्पॉट गांव में लोग बेखौफ आवाजाही कर रहे हैं। इससे गांव के लोगों में भय व्याप्त है। इस समय कासिमाबाद विकासखंड के आधा दर्जन से अधिक गांव हाटस्पाट घोषित हैं। इसमें मुख्य रुप से पाली, मोहम्मदपुर टड़वा, रामगढ़ बिंद बस्ती, महुआरी, देवली, नसीरुद्दीनपुर, खेताबपुर का दाऊदपुर आदि गांव प्रमुख हैं। इन गांवों को जब से हॉटस्पॉट एरिया घोषित किया गया है गांव में लोगों को आने-जाने से पूरी तरह से प्रतिबंधित होना चाहिए। इन गांवों में बांस- बल्ली लगाकर बैरीकेडिंग तो कर दी गई है लेकिन पुलिस की ड्यूटी नहीं होने से लोग खुलेआम आवाजाही कर रहे हैं।

    कासिमाबाद बाजार एवं चौक की दुकानों को 30 जून तक रोटेशन में खोलने के लिए नियम निर्धारित किया गया है लेकिन पिछले कई दिनों से मनमाने तरीके से दुकानें खोली जा रही हैं। शनिवार के दिन साप्ताहिक बंदी होने के बाद भी अधिकतर दुकान खुली रहीं। शनिवार के दिन कासिमाबाद विकासखंड के मुहम्मदपुर कुसुम में दो, फतेहपुर में दो, शाहबाजपुर में एक, इमामुद्दीनपुर में दो, उचौरी में एक की रिपोर्ट कोरोना संक्रमित आने से हड़कंप मच गया। प्रतिदिन मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद भी बाजारों में लोगों की भीड़ बढ़ती ही जा रही है। सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही है। एक बाइक पर तीन-तीन लोग घूम रहे हैं। पुलिस निष्क्रिय बनी हुई है। अगर लोगों ने सावधानी नहीं बरती तो जिस तरह मरीजों की संख्या बढ़ रही है आने वाले समय में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। उपजिलाधिकारी कासिमाबाद रमेश मौर्य ने कहा कि किसी को कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी। साथ ही पुलिस अपने दायित्वों का निर्वहन करे इसके लिए उच्चाधिकारियों से बात की जाएगी। उप जिलाधिकारी ने लोगों से अपील किया कि कोरोना जैसी संक्रमित बीमारी से बचने के लिए खुद सावधानी बरतें।

    Previous articleपूर्वांचल एक्सप्रेस वेः लॉकडाउन में निर्माण कार्य शुरू
    Next articleग्रिल काटकर चोर ले गए लाखों

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here